जागरण संवाददाता, नई दिल्ली : ऐतिहासिक पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन की सूरत बदल गई है। अब यह स्टेशन नए रंग रूप में नजर आ रहा है। दीवारों का नजारा तो आकर्षक है ही, प्लेटफॉर्म पर प्रवेश से पहले उद्यान भी सुंदरता में चार चांद लगा रहा है। हरे-भरे पौधे यात्रियों को सुखद अहसास करा रहे हैं।

ब्रिटिश हुक्मारानों द्वारा निर्मित दिल्ली जंक्शन यानी पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन राजधानी के सबसे बड़े और पुराने स्टेशनों में से एक है। इसे निखारने के साथ पुनर्विकास का काम पिछले डेढ़ वर्ष से चल रहा है। इसकी बाहरी दीवारों को चटख गेरुआ रंग से रंगा गया है, जिससे यह दूर से देखने में मनमोहक लगने लगा है। इसके बाहरी स्वरूप को लाइटिंग से सजाया गया है। शाम होते ही दूर से ही यह स्टेशन यात्रियों को आकर्षित करता है। इसके साथ ही प्लेटफॉर्म के अंदर फर्श को भी नया रूप दिया गया है। कतार में ही आ सकेंगे ऑटो और टैक्सी

रेलवे स्टेशन के अंदर प्लेटफार्म की ओर प्रवेश करने से पहले रेलवे द्वारा एक छोटा सा उद्यान बनाया गया है। इससे स्टेशन पर ऑटो-टैक्सी से आने वाले यात्रियों को जाम से निजात मिलेगी। पहले वाहन आड़े-तिरछे खड़े हो जाते थे, लेकिन अब वाहन केवल एक ही कतार में आ सकेंगे, जिससे लोगों को सहूलियत होगी। .. पर मुख्य द्वार से नहीं हटा अतिक्रमण

रेलवे स्टेशन पर रंगरोगन तो कर दिया गया, लेकिन मुख्य प्रवेश द्वार पर अब भी लोगों को रेहड़ी-पटरी के अतिक्रमण के कारण परेशानी से दो चार होना पड़ रहा है। केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने करीब डेढ़ वर्ष पहले यहां का दौरा कर अतिक्रमण हटाने को कहा था, लेकिन अब भी हालात जस के तस हैं। इससे सामने वाली रोड पर हमेशा जाम लगा रहता है और राहगीरों को भी परेशानी झेलनी पड़ती है। अतिक्रमण हटाने का काम उत्तरी दिल्ली नगर निगम को करना था, लेकिन निगम ने अभी तक इस पर कोई ठोस कार्रवाई नहीं की।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस