जागरण संवाददाता, नई दिल्ली। इंसान ही नहीं अब बेजुबानों पर भी कोरोना महामारी का काला साया मंडराने लगा है। कोरोना संक्रमण ने हैदाराबाद चिड़ियाघर में रह रहे आठ शेरों को अपने चपेट में लिया है, जिसके बाद से दिल्ली चिड़ियाघर प्रबंधन बेहद सतर्क हो गया है। हालांकि दिल्ली का चिड़ियाघर पिछले दिनों से बंद चल रहा है। वहीं, प्रबंधन इन दिनों जानवरों और पक्षियों के बाड़े के बाहर सैनिटाइजेशन का काम तेजी से कर रहा है। सुबह, दोपहर और शाम के वक्त यह सैनिटाइज किया जा रहा है।

वहीं, जानवरों के भोजन को भी काफी सफाई के बाद ही उन्हें दिया जा रहा है। चिड़ियाघर के निदेशक रमेश कुमार पांडेय ने बताया कि चिड़ियाघर में सभी सावधानियां बरती जा रही हैं। जानवरों और पक्षियों को विशेष खयाल रखा जा रहा है। इन दिनों जानवरों को मल्टी विटामिन भी दिए जा रहे हैं, जिससे उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़े। वहीं, जानवरों को दिए जाने वाले भोजन में भी बदलाव किया गया है। सभी को पौष्टिक तत्वों वाला भोजन दिया जा रहा है, जिसमें संतरे और खट्टे फल शामिल हैं।

वहीं, मांसाहारी जानवरों को विटामिन सी की दवाएं दी जा रही हैं। जानवरों की हर हलचल की इन दिनों निगरानी की जा रही है। साथ ही बढ़ती गर्मी के चलते उनके बाड़ों में तालाब बनाए गए हैं, जिसमें वह जमकर मस्ती करते हुए भी नजर आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि फिलहाल चिड़ियाघर के सभी जानवर पूरी तरह से सुरक्षित हैं। जानवरों के डॉक्टर की टीम खुद उनके बाड़ों तक जाकर इसकी निगरानी कर रही हैं। निदेशक का कहना है कि सभी जानवरों के बाड़े के बाहर कीटानाशक दवाओं का भी छिड़काव किया जा रहा है। इसके अलावा सैनिटाइजेशन का काम तेजी से किया जा रहा है।