नई दिल्ली (जेएनएन)। न्यू अशोक नगर इलाके में अवैध संबंध के शक में एक युवक ने प्रेमिका की गला घोंटकर हत्या कर दी और शव को कमरे में बंद कर खुद भी ट्रेन से कटकर जान दे दी। युवक का शव और 20 पन्नों का सुसाइड नोट तो पिछले दिनों ही शामली के पास मिल गए थे, लेकिन महिला का शव करीब चार दिन बाद तब बरामद हुआ, जब पड़ोसियों ने पुलिस को दुर्गंध की सूचना दी।

मृतकों की पहचान मोनिका उर्फ रेखा (28) और पवन (29) के रूप में हुई है। शादी के बाद दोनों में प्रेम संबंध बना था और महिला के तीन बच्चे भी हैं। पवन ने सुसाइड नोट में यह तो जिक्र किया था कि प्रेमिका की हत्या के बाद वह खुदकशी करने जा रहा है, लेकिन प्रेमिका के नाम का जिक्र नहीं किया था। अब दिल्ली और उत्तर प्रदेश की पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। 

मोनिका की 2010 में शादी हुई थी और वह पति, दो बेटियों व एक बेटे के साथ न्यू सीलमपुर इलाके में रहती थी। वहीं, पेशे से कारपेंटर पवन अपने परिवार के साथ जाटव मोहल्ला, लोनी, गाजियाबाद में रहता था। मोनिका की शादी के कुछ समय पहले से ही पवन से प्रेम संबंध था।

पवन ने छह जनवरी को पूर्वी दिल्ली के न्यू अशोक नगर स्थित हरिजन बस्ती में किराए पर कमरा लिया था। दोनों अक्सर यहीं मिलते थे। नौ मार्च को आधार कार्ड बनवाने की बात कहकर मोनिका घर से निकली। उसके बाद घर नहीं लौटी। परिजनों ने 10 मार्च को सीलमपुर थाने में गुमशुदगी का मामला दर्ज करवाया था।

इस बीच शामली में सोमवार को रेलवे ट्रैक पर पवन का शव और सुसाइड नोट भी मिला, लेकिन प्रेमिका के नाम का जिक्र नहीं होने के कारण हत्या की पर्दाफाश नहीं हो सका था। मंगलवार को हरिजन बस्ती के मकान नंबर-64 स्थित पहली मंजिल स्थित पवन के कमरे से जब पड़ोसियों को तेज दुर्गंध आई तो उन्होंने पुलिस को सूचना दी और शव बरामद हुआ। इसी बीच यूपी पुलिस भी पहुंच गई, जिससे इस घटनाक्रम का पता चला।

नौ मार्च को हत्या कर आत्मग्लानि में की खुदकशी

पुलिस की जांच में अभी यह पता नहीं चला है कि पवन ने न्यू अशोक नगर में कमरा मोनिका से मिलने के लिए लिया था या हत्या की साजिश रचते हुए। पुलिस के अनुसार, सुसाइड नोट से स्पष्ट है कि पवन को हत्या करने के बाद आत्मग्लानि हुई और उसने खुदकशी कर ली। उसने नौ मार्च को ही मोनिका की हत्या की, क्योंकि उसके बाद से ही वह कमरे पर नहीं आता था। अब पुलिस सीसीटीवी फुटेज की भी जांच कर रही है।

By JP Yadav