नई दिल्ली। Yamuna Water Level News: राजधानी में मानसून बिदा होने को है। इस बीच पिछले दिनों हुई वर्षा के कारण यमुना भी उफान पर है। हरियाणा के हथनी कुंड बैराज प्रति घंटे भारी मात्रा में पानी छोड़े जाने के कारण दिल्ली में पुराना रेलवे पुल के पास यमुना का जल स्तर चेतावनी के स्तर को पार कर चुका है।

आज रात करीब 8:20 बजे यमुना का जल स्तर खतरे के निशान को पार कर जाएगा। इस बाबत दिल्ली सरकार के सिंचाई व बाढ़ नियंत्रण विभाग ने अलर्ट जारी किया है और जिला प्रशासन से यमुना के निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को हटाने का निर्देश दिया है।


पुराना रेलवे पुल के पास 204.50 मीटर जल स्तर

सिंचाई व बाढ़ नियंत्रण विभाग के अनुसार मौजूदा समय में पुराना रेलवे पुल के पास यमुना का जल स्तर 204.77 मीटर है, जो चेतावनी के स्तर (204.50 मीटर) से ज्यादा है। वहीं खतरे के निशान (205.33 मीटर) से यमुना का जल स्तर सिर्फ 0.56 मीटर नीचे है। हथनी कुंड बैराज से रविवार को भारी मात्रा में पानी छोड़ा गया है।

दो लाख 39 हजार 635 क्यूसेक पानी छोड़ा गया

सोमवार सुबह दिन में 10 बजे दो लाख 39 हजार 635 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। इसके पहले सुबह नौ बजे भी करीब इतना ही पानी छोड़ा गया था। इसलिए यमुना का जल स्तर अभी बढ़ने की आशंका है। सिंचाई व बाढ़ नियंत्रण विभाग ने 28 सितंबर की रात एक व तीन बजे के बीच जल स्तर 206 मीटर तक पहुंचने का अलर्ट जारी किया है। इससे बाढ़ जैसी उत्पन्न हो सकती है।

प्रभावित होगा ट्रेनों का आवागमन

ऐसे में पुराने रेलवे पुल से ट्रेनों का आवागमन प्रभावित हो सकता है। इस साल पिछले माह 13 अगस्त को यमुना का जल स्तर खतरे के निशान से ऊपर 205.99 मीटर पहुंच गया था। इसके बाद जल स्तर कम हो गया था। पिछले साल यमुना का जल स्तर अधिकतम 205.44 मीटर तक पहुंचा था। वर्ष 1978 में यमुना का जल स्तर 207.49 मीटर तक पहुंच गया था, जो अब तक रिकार्ड है। इसके बाद वर्ष 2013 में यमुना का जल स्तर 207 मीटर से अधिक 207.32 तक पहुंचा था।

Edited By: Vinay Kumar Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट