नई दिल्ली [संतोष कुमार सिंह]। Delhi Mask Fine Issue:  राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण रोकने के लिए लिए मास्क नहीं पहनने वालों से पांच सौ की जगह अब दो हजार रुपये जुर्माना वसूला जा रहा है। लेकिन इसे लेकर सियासत भी खूब हो रही है। भाजपा को आम आदमी पार्टी (आप) सरकार का यह कदम सही नहीं लग रहा है। वह इसका लगातार विरोध कर रही है।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता का कहना है कि किसी भी समस्या के हल के लिए केजरीवाल सरकार तैयारी अधूरी रहती है। पूरी तैयारी करने के बजाय दिल्ली सरकार के मंत्री और आप नेता सिर्फ बयानबाजी करते हैं। मास्क नहीं पहनने पर जुर्माना की राशि बढ़ाने से समस्या हल नहीं होगा, इससे रिश्वतख़ोरी को बढ़ावा मिलेगा। इस अव्यवहारिक फरमान से उन लोगों को ज्यादा परेशानी होगी जो मास्क खरीदने में भी असमर्थ हैं।

उन्होंने कहा कि बसों, आटो, ग्रामीण सेवा, ई-रिक्शा इत्यादि मे पूरी क्षमता के साथ सवारी बैठाने की छूट दे दी गई है। मास्क खरीदने में असमर्थ गरीबों से जुर्माना वसूला जा रहा है। उन्होंने कहा कि जुर्माना वसूलने के बजाय गरीबों को मास्क उपलब्ध कराने की जरूरत है। सरकार को इसके लिए बड़े पैमाने पर अभियान चलाना चाहिए, लेकिन एेसा नहीं हो रहा है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार को भले ही अपनी जिम्मेदारी का अहसास नहीं है लेकिन भाजपा अपने कार्यकर्ताओं के माध्यम से गरीबों व जरूरतमंद लोगों के बीच मास्क वितरित कर रही है। लोगों को मास्क लगाने और शारीरिक दूरी का पालन कराने के लिए जागरूक भी किया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संदेश ’जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं’ को जन जन तक पहुंचाने के लिए भाजपा कार्यकर्ता काम कर रहे हैं।

 

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस