नई दिल्ली [भगवान झा]। डाबड़ी थाना क्षेत्र में पैर पर टेंपो का पहिया चढ़ने के बाद हुए बवाल में दो पक्षों के बीच जमकर मारपीट हुई। इस दौरान लाठी-डंडे के अलावा तलवार से भी एक दूसरे पर हमला किया गया। करीब एक घंटे तक चले बवाल में दोनों पक्षों के छह लोग घायल हो गए। मौके पर पहुंचकर पुलिस ने 28 लोगों को हिरासत में ले लिया। इसके साथ ही दंगा करने व हत्या के प्रयास का मामला दर्ज करते हुए छानबीन शुरू कर दी।

स्पीकर व माइक लाने के क्रम में टैंपो पैर पर चढ़ा

पुलिस अधिकारी ने बताया कि बिंदापुर जेजे कालोनी के पास रावण दहन का कार्यक्रम था। इसमें स्पीकर व माइक पास में रहने वाले जीतू का था। शुक्रवार रात करीब साढ़े दस बजे जीतू अपना स्पीकर व अन्य सामान लेने के लिए वहां पहुंचा। इसी दौरान उसका टैंपो अजहर के पैर पर चढ़ गया। इसके बाद उत्तेजित होकर अजहर ने जीतू की पिटाई कर दी। वहां से जीतू सीधे अपने घर आया और घटना की जानकारी स्वजन को दी। इसके बाद जीतू का भाई सन्नी, पिता ललित, मां कमला और भाभी हंसा मौके पर पहुंची और इसका कारण जानना चाहा।

पुलिस को करना पड़ा हल्का बल का प्रयोग

इसके बाद वहां पर अजहर की तरफ से भी काफी संख्या में लोग जमा हो गए और दोनों पक्षों के बीच मारपीट शुरू हो गई। दोनों पक्षों के बीच हुई झड़प में जीतू की तरफ से ललित, कमला, सन्नी व हंसा घायल हो गए। हंसा के सिर में गंभीर चोटे आईं हैं और वह सफदरजंग अस्पताल में भर्ती हैं वहीं अजहर की तरफ से दो लोग घायल हो गए। मौके पर पहुंची पुलिस को स्थिति नियंत्रण में लाने के लिए हल्का लाठीचार्ज भी करना पड़ तब जाकर मामला शांत हुआ।

भारी संख्या में पुलिस बल तैनात

घटना में दो समुदायों के बीच हुई भिड़ंत के बाद पुलिस सतर्क हो गई है। बिंदापुर जेजे कालोनी में भारी संख्या में पुलिस बल के अलावा अर्धसैनिक बलों को तैनात किया गया है। लोगों को पूछताछ के बाद ही अंदर जाने दिया जा रहा है। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि जो भी इसमें आरोपित होगा उसे बख्शा नहीं जाएगा।

ललित ने बताई दूसरी कहानी

ललित ने कहा कि पहले जीतू के साथ मारपीट की गई। इसके बाद जब मैं अकेले घटनास्थल पर गया तो समीर नाम के लड़के ने मुझपर हाथ उठाया। वहां जब लोग जमा होने लगे तो मैं अपने घर चला आया। कुछ देर बाद करीब 50 की संख्या में अजहर की तरफ से लोग हमारे घर में आए और एक-एक कर घर से बाहर खींचकर हम सभी को पीटने लगे। ललित ने बताया कि हमारे परिवार के साथ यहां के लोग अक्सर मारपीट करते रहते हैं। यहां पर तीन वर्ष पूर्व खाली जमीन पर मीरोठा समाज समिति बाबा श्रीरामदेव जी के मंदिर का निर्माण किया गया था। इसके बाद से ही हमारे साथ दूसरे पक्ष के लोग इस तरह की घटना को अंजाम देते हैं।

आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही पुलिस

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी फुटेज पुलिस खंगाल रही है, जिससे घटना की असलियत का पता चल सके। साथ ही किन-किन लोगों की इसमें संलिप्तता है उसके बारे में भी जानकारी मिल सके। उस आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

लोगों में भय है व्याप्त

घटना के बाद से लोगों में भय व्याप्त है। स्थानीय लोगों ने बताया कि इस तरह की घटना पर जल्द से जल्द रोक लगनी चाहिए। अगर दो शख्स के बीच का मसला है तो उसमें भीड़ एकत्र करने की क्या जरूरत थी। इससे माहौल खराब होता है और लोगों में असुरक्षा की भावना घर कर जाती है। पुलिस जल्द से जल्द सभी आरोपितों को गिरफ्तार करे।

Edited By: Prateek Kumar