नई दिल्ली [रीतिका मिश्रा]। पिछले दिनों गुरुग्राम की युवती से दिल्ली के मेट्रो स्टेशन पर यौन उत्पीड़न मामले में दिल्ली महिला आयोग (DCW) ने सक्रियता दिखाते हुए कार्रवाई की पूरी जानकारी मांगी है। DCW ने समन जारी कर दिल्ली पुलिस से कहा है कि वह दिल्ली मेट्रो स्टेशन पर एक युवती के साथ हुए यौन उत्पीड़न के मामले में गिरफ्तारी का ब्योरा दें।

इसके साथ-साथ DCW ने केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल को भी नोटिस जारी कर सुरक्षा कर्मियों पर कार्रवाई की मांग की है। आरोप है कि जोर बाग मेट्रो स्टेशन पर युवती ने सुरक्षा कर्मियों से मदद मांगी तो उसे निराशा ही हाथ लगी।  इस पर DCW ने सीआइएसएफ को नोटिस जारी कर मामले में सुरक्षा कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

DCW की ओर से कहा गया है कि दिल्ली के जोरबाग मेट्रो स्टेशन पर हुई घटना कोलेकर युवती ने ट्विटर पर अपनी आपबीती बताई थी। इस पोस्ट में गुरुग्राम की युवती ने कहा था कि एक व्यक्ति ने दिल्ली मेट्रो के जोर बाग स्टेशन पर उसका यौन उत्पीड़न करने की कोशिश की।

पूरे घटना 2 जून को दोपहर 2 बजे की है, जब वह दिल्ली मेट्रो ट्रेन में येलो लाइन पर यात्रा कर रही थी। जोरबाग मेट्रो स्टेशन से पहले ही ट्रेन में यात्री के दौरान एक अजनबी शख्स आया और उसने ढूंढ़ने में युवती से मदद मांगी। इस पर युवती ने शख्स को हर संभव जानकारी दी और फिर ट्रेन से उतर गई।

इसके बाद युवती टैक्सी बुक करने के लिए प्लेटफार्म पर बैठ गई। इस बीच  आरोपित शख्स फिर से उसके पास आया और पता संबंधी जानकारी लेने लगा। बातचीत के दौरान आरोपित ने अपने प्राइवेट पार्ट को उसके चेहरे पर लगाने की कोशिश की।

इस दौरान दहशत में आई युवती वहां से भाग गई। इस कड़ी में प्लेटफार्म पर मौजूद एक पुलिसकर्मी के पास पहुंचकर मदद की गुहार लगाई। 

उधर, इंटरनेट मीडिया पर अपना दर्द बयां करते हुए युवती ने बताया कि वहां पर तैनात पुलिसकर्मी ने उसकी मदद करने से इनकार कर दिया और सीढ़ी से ऊपर जाने के लिए कहा।

मदद की कड़ी में युवती एक अन्य पुलिस कर्मी के पास गई और उससे आरोपित की पहचान के लिए सीसीटीवी फुटेज दिखाने का अनुरोध किया। इस पर उसने आरोपित का सीसीटीवी फुटेज दिखाया गया। युवती ने उस आरोपित की पहचान की जो एक अन्य मेट्रो ट्रेन में सवार होकर चला गया।

Edited By: Jp Yadav