जागरण संवाददाता, पश्चिमी दिल्ली। कोरोना संक्रमण के प्रसार की शुरुआती समय से ही पंजाबी बाग इलाका प्रशासन के लिए एक बड़ी चिंता का विषय रहा है। असल में सख्ती व जागरूकता कार्यक्रम को लेकर किए काफी प्रयासों के बाद भी यहां न लोग मास्क लगाने को तैयार है और न शारीरिक दूरी का पालन सुनिश्चित कर रहे है। रविवार को नांगलोई में पंजाबी बस्ती मार्केट व जनता मार्केट में भीड़भाड़ अधिक होने के बाद प्रशासन ने इसे बंद कराने का आदेश पारित कर दिया।

पश्चिमी जिले में अतिरिक्त जिला उपायुक्त धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि त्योहार का मौसम बीतने के बाद भी साप्ताहिक बाजार में भीड़ बरकरार है। कई विक्रेताओं के खिलाफ चालान जारी होने के बाद भी यहां नियमों की अवहेलना बरकरार है। साथ ही बाजार में जागरूकता कार्यक्रम चलाए जा रहे है, पर विक्रेता न सहयाेग करने को तैयार है और गंभीर नजर आते है। अंत में मजबूर होकर उपायुक्त नेहा बंसल के आदेश पर शाम छह बजे दोनों बाजारों को बंद कराने का आदेश जारी कर दिया गया।

पंजाबी बाग सब-डिवीजन के एसडीएम निशांत बोद्ध के नेतृत्व में दोनाें बाजारों को बंद करवाया गया। अधिकारियों के मुताबिक पंजाबी बाग सब-डिवीजन में ज्वालाहेड़ी बाजार, मादीपुर बाजार व पंजाबी बाग बस्ती मार्केट सबसे बड़े हॉटस्पॉट है। मार्केट एसोसिएशन के साथ बैठक कर कोरोना प्रसारण के रोकथाम में मदद की अपील की जा चुकी है, लेकिन बाजार में भीड़भाड़ के बीच नियम का पालन कराने में एसोसिएशन के पदाधिकारी भी असमर्थ साबित हो रहे है।

हालांकि प्रशासन की ओर से तीनों बाजार में नियमित रूप से चालान काटने की ड्राइव चलाई जा रही है। त्योहार के दौरान नियम को बनाए रखने के लिए अतिरिक्त कर्मचारियों को भी यहां तैनात किया गया था, लेकिन स्थिति को नियंत्रित करना यहां प्रशासन के लिए टेडी खीर साबित हो रहा है। वहीं दक्षिण-पश्चिमी जिले में रविवार को डाबड़ी में लगने वाली फल मंडी में कुछ विक्रेताओं में कोरोना संक्रमण की पुष्टि होने के बाद चार दुकानों को 48 घंटे के लिए बंद करवा दिया गया।  

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस