नई दिल्ली [संजीव गुप्ता]। गैरआधिकारिक रूप से दिल्ली-एनसीआर से मानसून विदा हो चुका है। दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर भारत में बारिश होने के कोई आसार नहीं है। अब बारिश की निर्भरता पश्चिमी विक्षोभ पर निर्भर है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के पुर्वानुमान के मुताबिक,  ऋतु परिवर्तन के दौर में दिल्ली का मौसम इन दिनों शुष्क चल रहा है। तापमान भी सामान्य स्तर के आसपास बना हुआ है।  मौसम विभाग का ताजा पूर्वानुमान है कि शुक्रवार को आसमान साफ रहेगा। अधिकतम एवं न्यूनतम तापमान क्रमश: 35 और 23 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है।

मौसम विभाग के मुताबिक, आने वाले एक दो दिनों के दौरान आधिकारिक रूप से भी मानसून विदा हो जाएगा और उत्तर पश्चिमी हवाओं के असर से सुबह के समय हल्का कोहरा भी नजर आने लगेगा। बता दें कि इस बार मानसून देर से आया था और देर से ही विदा भी हो रहा है। बृहस्पतिवार को अधिकतम तापमान सामान्य स्तर पर 34.0 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री अधिक 23.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हवा में नमी का स्तर 51 से 90 फीसद रहा।

कहीं मध्यम तो कहीं खराब श्रेणी में रही हवा

बारिश थमते ही दिल्ली एनसीआर में वायु प्रदूषण बढ़ने लगा है। हवा की दिशा बदलने से अगले कुछ ही दिनों के दौरान इसमें उल्लेखनीय इजाफा देखने को मिल सकता है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) द्वारा जारी एयर क्वालिटी बुलेटिन के अनुसार बृहस्पतिवार को एनसीआर में सभी जगहों का एयर इंडेक्स 100 से ऊपर ही रहा। फरीदाबाद में तो यह 200 का आंकड़ा पार कर गई। हवा की गुणवत्ता मध्यम से खराब श्रेणी में दर्ज की गई गई। सफर इंडिया का कहना है कि बारिश का दौर थमने से हाल फिलहाल वायु प्रदूषण की यही श्रेणी बने रहने की संभावना है।

दिल्ली-एनसीआर का एयर इंडेक्स

  • दिल्ली - 127
  • फरीदाबाद - 236
  • गाजियाबाद - 157
  • ग्रेटर नोएडा - 140
  • गुरुग्राम - 139
  • नोएडा - 122

 

Edited By: Jp Yadav