नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। इंटरनेट मीडिया पर वायरल वीडियो में स्पाइसजेट के विमान में एक व्यक्ति धूम्रपान करता हुआ नजर आ रहा है। वीडियो वायरल होने के बाद स्पाइसजेट को इसकी सफाई देनी पड़ी। विमानन कंपनी के अनुसार वीडियो कई महीना पुराना है। आरोपित यात्री के खिलाफ गुरुग्राम के उद्योग विहार में शिकायत दी गई थी। उसे 15 दिनों के लिए नो फ्लाइंग लिस्ट में भी डाला गया था।

नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा है कि मामले की जांच की जा रही है। इस तरह के मामले बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे। वीडियो में धूम्रपान कर रहे शख्स का नाम बाबी कटारिया बताया जा रहा है। वह गुरुग्राम का रहने वाला है। वीडियो में बाबी को स्पाइसजेट के विमान में बीच की सीट पर सिगरेट जलाते हुए दिखाया गया है।

विमान में धूमपान की अनुमति नहीं होने व सुरक्षा जांच के दौरान तलाशी की प्रक्रिया के बाद आखिर यह कैसे संभव हुआ कि विमान में इस व्यक्ति ने तसल्ली से वीडियो बनाया और सिगरेट जलाई। इसे लेकर लोग स्पाइसजेट प्रबंधन से सवाल कर रहे हैं।

स्पाइसजेट ने अपने ट्विटर हैंडल पर इस पूरे प्रकरण पर सफाई दी है। स्पाइसजेट ने कहा है कि यह वीडियो जनवरी महीने का है। 20 जनवरी को एसजी 706 पर इसे रिकार्ड किया गया था, जिस विमान में यह शख्स धूम्रपान कर रहा है, उसे दुबई से नई दिल्ली के लिए उड़ान भरना था।

स्पाइसजेट का यह भी कहना है कि उस समय विमान के किसी भी क्रू की इस पर नजर नहीं गई। इस मामले में आरोपित यात्री के खिलाफ कार्रवाई करते हुए फरवरी महीने में 15 दिनों तक उसे नो फ्लाइंग लिस्ट में डाला गया था। स्पाइसजेट का यह भी कहना है कि आरोपित के खिलाफ गुरुग्राम के उद्योग विहार थाने में शिकायत दी गई थी।

पहले भी वायरल हुआ था वीडियो

बाबी कटारिया चर्चित यूट्यूबर है और उसके लाखों फालोअर हैं। पिछले दिनों बीच सड़क पर शराब पीते हुए उसका वीडियो वायरल हुआ था। यह वीडियो उत्तराखंड का बताया जा रहा है। इंटरनेट मीडिया पर छाने के लिए ये वीडियो बनाता रहता है।

बड़ा सवाल आखिर क्यों नहीं गई नजर

इस पूरे मामले में स्पाइसजेट के क्रू की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठ रहे हैं। जब आरोपित धूम्रपान कर रहा था, तब उसके धुएं की गंध किसी ने क्यों नहीं महसूस की, जब यात्रियों ने विमान में प्रवेश करना शुरू कर दिया था, तब क्रू के सदस्य का ध्यान कहां था। इस मामले में दुबई एयरपोर्ट की सुरक्षा जांच से जुड़ी प्रणाली पर भी सवाल उठ रहे हैं। दुबई एयरपोर्ट पर तलाशी के दौरान यात्री के पास लाइटर है, इसका पता क्यों नहीं चल सका।

Edited By: Prateek Kumar