नई दिल्ली, जेएनएन। दिल्ली में पेट्रोल और डीजल की कीमतों को लेकर केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने एक बार फिर केजरीवाल सरकार पर निशाना साधा है। गोयल ने केजरीवाल सरकार से पेट्रोल और डीजल के दाम घटाने की मांग की, उन्होंने कहा कि अन्य राज्य सरकारों की तरह केजरीवाल सरकार को भी वैट घटाकर तेल के दाम कम करने चाहिए।

लोग परेशान हैं

400 पेट्रोल पंपों के एसोसिएशन के पदाधिकारियों से मुलाकात के बाद प्रेसवार्ता के दौरान केंद्रीय मंत्री ने कहा कि दिल्ली में लोग पेट्रोल-डीजल की कीमतों से परेशान हैं, लेकिन दिल्ली की गरीब विरोधी पार्टी सरकार ने कीमतों को कम नहीं किया है। केंद्र सरकार ने एक्साइज में 1.50 रुपये की कमी की, कंपनियों ने भी एक रूपये की कमी की। भाजपा शासित राज्यों ने भी 2.50 रुपये में कमी की और अब दिल्ली सरकार को भी वैट कम करना चाहिए।

मंडरा रहा है बेरोजगारी का खतरा

गोयल ने कहा कि दिल्ली में रोजाना 60 लाख लीटर पेट्रोल व डीजल की बिक्री होती है। इसमें से 20 लाख लीटर अब पड़ोसी राज्यों से आ रहा है। बाहर से आने वाला पेट्रोल-डीजल 4 यूरो है जिसमें सल्फर 50 पीपीएम है। दिल्ली में यूरो 6 बिकता है जिसमें सल्फर 10 पीपीएम होता है। इस तरह से दूसरों राज्यों से आने वाले पेट्रोल व डीजल से प्रदूषण बढ़ रहा है। राजस्व का भी नुकसान हो रहा है। पेट्रोल पंपों का कारोबार कम हुआ है, वहां काम करने वालों पर बेरोजगारी का खतरा मंडरा रहा है। 

22 अक्टूबर को 24 घंटे के बंद की घोषणा

गौरतलब है कि दिल्ली सरकार द्वारा वैट में कटौती न किए जाने के विरोध में दिल्ली के पेट्रोल पंप संचालकों ने 22 अक्टूबर को 24 घंटे के बंद की घोषणा की है। सुबह 6 बजे से अगले दिन सुबह 6 बजे तक दिल्ली के सभी 400 पेट्रोल पंप बंद रहेंगे। यह फैसला चैम्सफोर्ड क्लब में दिल्ली पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन की मैनेजिंग कमेटी की बैठक में लिया गया है।

नहीं घटेगा वैट 

पेट्रोल पंप संचालकों का यह फैसला दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया द्वारा वैट दर में कटौती न करने के फैसले के एक दिन बाद आया। दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि दिल्ली में पेट्रो पदार्थों पर लगने वाला वैट नहीं घटाया जाएगा। दिल्ली में मौजूदा समय में पेट्रोल पर 27 फीसद तो डीजल पर 16.75 फीसद वैट है।

सर्वे से हुआ खुलासा, यौन शोषण के खिलाफ आवाज नहीं उठा पाती हैं करोड़ों महिलाएं

बिक्री में गिरावट

पेट्रोल पंप संचालकों का कहना है कि उनकी बिक्री बुरी तरह प्रभावित हो रही है। अनुमानत: पेट्रोल की बिक्री में 25 फीसद तो डीजल की बिक्री में 50 फीसद की गिरावट आई है। सितंबर माह में दिल्ली के 400 से अधिक पेट्रोल पंपों से 10.62 करोड़ लीटर पेट्रोल व 9.38 करोड़ लीटर डीजल की बिक्री हुई थी।

Posted By: Amit Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप