नई दिल्ली [सोनू राणा]। बाहरी उत्तर जिले की स्पेशल स्टाफ टीम ने झपटमारों के गैंग का भंडाफोड़ किया है। आरोपित खुद तो झपटमारी करता ही था। साथ में दूसरे झपटमारों को भी चोरी की बाइक किराये पर देता था। झपटमारी के लिए आरोपित ने छह चोरी की बाइक रखी हुई थी, वह बाइक बदल-बदलकर वारदात को अंजाम देता था। आरोपित की पहचान स्वरूप नगर निवासी करण उर्फ नीरज उर्फ चक्का के रूप में हुई है।

झपटमारी के वक्त ही पुलिस ने पकड़ा

आरोपित को उस समय पकड़ा गया जब वह बादली थाना क्षेत्र में दो नाबालिगों के साथ मिलकर झपटमारी करने आया था। आरोपित के पास से छह बाइक व आठ मोबाइल बरामद किए गए हैं। पुलिस का दावा है कि आरोपित की गिरफ्तारी से 14 मामलों को हल कर लिया गया है। इस मामले में बादली थाने में केस दर्ज किया गया है।

पुलिस को देखते ही भागने लगे चोर

बाहरी उत्तर जिला पुलिस उपायुक्त राजीव रंजन सिंह के अनुसार मंगलवार को बादली थाना क्षेत्र में झपटमारों के आने की जानकारी मिली थी। आरोपितों को पकड़ने के लिए स्पेशल स्टाफ रोहिणी के इंस्पेक्टर राम स्वरूप मीणा के नेतृत्व में एक टीम बनाई गई। टीम में एसआइ संदीप, एएसआइ अनिल, हेड कांस्टेबल नीरज, कांस्टेबल विकास, नरेंद्र, राकेश आदि शामिल थे। टीम ने जब जाल बिछाया तो करण दो नाबालिगों के साथ आया। पुलिस को देखकर आरोपित मौके से भागने लगे, लेकिन पुलिस ने तीनों को पकड़ लिया। उनकी निशानदेही पर छह बाइक व आठ मोबाइल बरामद कर लिए गए।

चोरी की बाइक से करता था झपटमारी

पूछताछ में आरोपित करण ने बताया कि वह अपने साथी राकेश उर्फ डोकोमो के साथ मिलकर बाइक चुराता है फिर इन बाइक से झपटमारी करता है। पकड़ा न जाए इसलिए अलग-अलग बाइक का इस्तेमाल कर मोबाइल झपटता है। साथ ही दूसरे झपटमारों को भी पांच हजार रुपये प्रतिदिन के हिसाब से बाइक किराये पर देता है।

Edited By: Prateek Kumar