मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, जेएनएन। Unnao assault case: उत्तर प्रदेश के साथ देश भर को दहला देने वाले उन्नाव सामूहिक दुष्कर्म मामले में सोमवार को दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट (Delhi's Tis Hazari court) में सुनवाई हुई। दोनों को दिल्ली की तिहाड़ जेल भेज दिया गया है। इस मामले में बुधवार (7 अगस्त)  को अगली सुनवाई होगी। 

इस बीच तीस हजारी कोर्ट में सोमवार को पुलिस और वकीलों के बीच हंगामा भी हुआ था। यह बवाल कोर्ट रूम के अंदर जाने को लेकर हुआ। 

इससे पहले शनिवार (3 अगस्त) को हुई सुनवाई में तीस हजारी कोर्ट ने इस मामले में मुख्य आरोपित यूपी के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और दूसरे आरोपित शशि सिंह के खिलाफ प्रोडक्शन वारंट जारी किया था।

इसी के साथ दोनों को 5 अगस्त को 12:30 बजे कोर्ट के सामने पेश होने के लिए कहा था। बताया जा रहा है कि इस मामले रोजाना सुनवाई भी हो सकती है, लेकिन इसकी पुष्टि अब तक नहीं हो पाई है। 

इससे पहले उन्नाव के माखी दुष्कर्म कांड के आरोपित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर से पूछताछ करने के लिए सीबीआइ टीम रविवार को सीतापुर जेल पहुंची। जेल में पूछताछ के बाद जांच टीम देर शाम सेंगर और सह आरोपित शशि सिंह को लेकर दिल्ली रवाना हो गई। दोनों को सोमवार को दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में पेश किया जाएगा।  

विधायक के करीबियों समेत 17 ठिकानों पर सीबीआइ छापे
उन्नाव के माखी क्षेत्र की दुष्कर्म पीड़िता के साथ रायबरेली में हुए सड़क हादसे की जांच कर रही सीबीआइ ने रविवार को आरोपित विधायक कुलदीप सेंगर के करीबियों समेत 17 ठिकानों पर छापेमारी कर साक्ष्य जुटाए। सीबीआइ ने जिला कारागार सीतापुर में बंद आरोपित विधायक से भी पूछताछ की। रायबरेली हादसे में नामजद आरोपितों को सोमवार को सीबीआइ ने बयान दर्ज कराने के लिए तलब किया है। सीबीआइ की अलग-अलग टीमों ने रविवार को लखनऊ, उन्नाव, बांदा, फतेहपुर समेत 17 स्थानों पर छानबीन की। सीबीआइ की टीम ने सड़क हादसे के साथ ही दुष्कर्म की जांच में भी तेजी ला दी है। पीड़िता को धमकाने के मामले में नवीन सिंह को हिरासत में लेकर पूछताछ की। नवीन दुष्कर्म मामले के अभियुक्त और विधायक के करीबी शशि सिंह का बेटा है। पीड़िता की मां और बहन लगातार नवीन पर धमकाने का आरोप लगा रही थीं। पीड़ित परिवार ने पत्र लिखकर उसके खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। नवीन से सोमवार को भी पूछताछ होगी।

विधायक के घर की तलाशी ली, सीसीटीवी कैमरा भी खंगाला

सीबीआइ की 18 सदस्यीय टीम पीड़िता के गांव पहुंची और उस कमरे की भी छानबीन की जहां विधायक पर दुष्कर्म का आरोप लगाया गया है। विधायक के घर की सघन तलाशी ली और सीसीटीवी कैमरा भी खंगाला। विधायक के घर पर मौजूद नौकरों से भी पूछताछ हुई। सीबीआइ विधायक की बहन और भाई के घर भी पहुंची। गांव वालों से भी पूछताछ की गई। बांदा में ट्रक क्लीनर मोहन के घर सीबीआइ ने दस्तक दी, जबकि फतेहपुर में ट्रक ड्राइवर आशीष पाल और मालिक के आवास पर पहुंचकर पूछताछ की।

यह है ताजा मामला
उन्नाव के माखी क्षेत्र की एक नाबालिग ने विधायक कुलदीप सेंगर पर दुष्कर्म का आरोप लगाया, जिस मामले में वह सीतापुर जेल में बंद हैं। पिछले दिनों दुष्कर्म पीड़िता अपनी चाची, मौसी और वकील के साथ रायबरेली जेल में बंद अपने चाचा से मिलने जा रही थी। इस दौरान रायबरेली जिले में ट्रक की चपेट में उनका वाहन आ गया जिसमें दो की मौत हो गई और पीड़िता समेत दो गंभीर रूप से घायल हैं। इस दुर्घटना को पीड़ित परिवार ने विधायक की साजिश बताया है।

यहां पर बता दें कि कुलदीप सिंह सेंगर उन्नाव के अलग-अलग विधानसभा सीटों से चार बार से लगातार विधायक निर्वाचित हुए हैं।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप