नई दिल्ली, जेएनएन। पूर्व केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर के पक्ष में दो गवाहों ने शुक्रवार को पटियाला हाउस की विशेष अदालत में बयान दर्ज कराया। अकबर ने महिला पत्रकार प्रिया रमानी के खिलाफ मानहानि का केस दायर किया है। इस मामले में एक गवाह का पहले बयान दर्ज हो चुका है और अब 11 जनवरी को अन्य गवाहों के बयान दर्ज होंगे।

संडे गार्जियन के प्रकाशक सुनील गुजराल ने कोर्ट को बताया कि वह अकबर को 1980 से जानते हैं। एक सहयोगी और मित्र होने के नाते उन्होंने कभी अकबर के खिलाफ ऐसी कोई बात नहीं सुनी, जिसमें बुरा बर्ताव करने का जिक्र हो। प्रिया के आरोपों के बाद उन्हें झटका लगा है और वह काफी परेशान हैं। अकबर के सम्मान और प्रतिष्ठा को ठेस पहुंचाई गई है।

दूसरी गवाही पत्रकार वीनू संदल की हुई। उन्होंने कोर्ट में कहा कि वह अकबर को करीब 25 साल से जानती हैं। उन्होंने कभी किसी के साथ दु‌र्व्यवहार नहीं किया। संदल ने कहा कि इस प्रकरण से उनकी और लोगों की नजरों में अकबर की प्रतिष्ठा कम हुई है।

यह है मामला
सोशल साइट ट्विटर पर 'मी टू' अभियान के तहत अकबर के साथ करीब 20 साल पहले काम कर चुकी प्रिया रमानी ने यौन दु‌र्व्यवहार का आरोप लगाया था। इसके बाद कई अन्य महिलाओं ने भी इस अभियान के तहत उन पर ऐसे ही आरोप लगाए थे। इसके बाद नाईजीरिया के अधिकारिक दौरे से वापस आकर उन्होंने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। 

Posted By: Prateek Kumar