नई दिल्ली जागरण संवाददाता। दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच के एस टीएफ ने दो अंतरराज्जीय ड्रग तस्कर को गिरफ्तार किया है। दोनों आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम जिले में ओडिशा-आंध्र प्रदेश सीमा के जंगल क्षेत्र से गांजा खरीद कर उसे दिल्ली एनसीआर में बेचने के लिए आए थे। पुलिस की जांच से बचने के लिए ये गांजा को ट्रक में केले के बीच छिपा दिए थे। इतनी चालाकी के वावजूद वे पुलिस की नजरों से बच नहीं पाए। दिल्ली आते ही दोनों को दबोच लिया गया। ट्रक से प्लास्टिक के 12 बैग में रखा 445.200 ग्राम गांजा बरामद कर लिया गया। इसकी कीमत लाखों में बताई जा रही है।

डीसीपी साइबर क्राइम भीष्म सिंह के मुताबिक गिरफ्तार किए गए तस्करों के नाम मोसिम और साबिर अली है। मोसिम ओखला और साबिर मेरठ, यूपी का रहने वाला है। पुलिस ने तस्करी में इस्तेमाल ट्रक को भी जब्त कर लिया है।

वरिष्ठ अधिकारियों को दिल्ली में गांजे की आपूर्ति रोकने और दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में गांजे की आपूर्ति में शामिल ड्रग तस्करों का पता लगा गिरफ्तार करने की जिम्मेदारी एसटीएफ, अपराध शाखा को सौंपी थी। इस पर काम करते हुए पिछले 3-4 महीनों के दौरान एसटीएफ ने कई सदस्यों को गिरफ्तार किया और अलग-अलग मामलों में भारी मात्रा में गांजा भी बरामद किया गया।

18 अप्रैल को सूचना मिली कि तस्कर गांजा की आपूर्ति करने एक ट्रक से डेरा गाँव के पास आएंगे। इस सूचना पर एसीपी पंकज सिंह की टीम ने, डेरा गाँव के पास देर रात दोनों तस्कर मोसिम और साबिर अली को गिरफ्तार कर लिया। दोनों ट्रक के अंदर बैठे थे। ट्रक की तलाशी लेने पर उसमे से 12 प्लास्टिक बैग में रखे 445 किलो 200 ग्राम गांजा बरामद हुआ। मामला दर्ज किया गया है और आरोपी मोसिम और साबिर अली को गिरफ्तार किया गया है। पूछताछ में मोसिम ने बताया कि उसने आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम जिले में ओडिशा-आंध्र प्रदेश सीमा के जंगल क्षेत्रों से बरामद मारिजुआना लोड किया था।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021