नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दिनदहाड़े घरों में घुसकर ताबड़तोड़ वारदात कर रहे दो करोड़पति चोर भाइयों को पूर्वी जिला पुलिस के स्पेशल स्टाफ ने गिरफ्तार कर लिया है। दोनों ने पिछले कुछ समय में यमुनापार में चोरी की घटनाओं से आतंक मचाया हुआ था। आरोपितों की पहचान कय्यूम (30) और अय्यूब (40) निवासी नंदनगरी के रूप में हुई है। पुलिस ने आरोपितों के पास से 27 लाख रुपये की नकदी, एक करोड़ रुपये मूल्य का करीब सवा दो किलो सोना, चार सौ ग्राम चांदी, सात मोबाइल, 11 हाथ की घड़ियां और 53 मास्टर चाभी के साथ लाखों रुपये मूल्य के इलेक्ट्रॉनिक उपकरण भी बरामद किए हैं।

आरोपितों ने चोरी की रकम से ही शाहदरा में 47 लाख और यमुना विहार में 65 लाख रुपये में दो मकान भी खरीद लिए थे। पुलिस ने दोनों की गिरफ्तारी से चोरी के 64 मामले सुलझाने का दावा किया है। इन दोनों भाइयों को यमुनापार का सबसे बड़ा चोर माना जा रहा है।

पुलिस उपायुक्त जसमीत सिंह ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से मंडावली, पांडव नगर में दिनदहाड़े कई चोरी की वारदात हुई थीं। कुछ जगहों से पुलिस के हाथ सीसीटीवी फुटेज भी मिली, इनमें एक आरोपित का चेहरा सामने आया था, लेकिन पहचान नहीं हो पा रही थी। मामले की जांच के लिए स्पेशल स्टाफ के इंस्पेक्टर सत्येंद्र खारी, एसआइ केके शर्मा, एमके मनोज, आरएन पाठक और सुदेश राणा व अन्य की टीम गठित की गई।

टीम ने काफी मशक्कत के बाद सीसीटीवी फुटेज में दिखने वाले चोर की पहचान कय्यूम के रूप में की। शुक्रवार को एसआइ केके शर्मा को सूचना मिली कि कय्यूम कड़कड़डूमा कोर्ट के पास आने वाला है। पुलिस टीम ने कय्यूम और उसके भाई अय्यूब को दबोच लिया। पुलिस ने पूछताछ शुरू की तो शाहदरा के कबीर नगर और यमुना विहार में दो मकानों के बारे में पता चला।

वहां पुलिस ने छापा मारा तो हैरान रह गई। दोनों मकानों में सुख-सुविधा के सभी सामानों के साथ 27 लाख रुपये, सवा किलो सोना सहित अन्य सामान भी बरामद हुए। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक दोनों ने स्कूल की पढ़ाई पूरी नहीं और काफी कम उम्र से ही चोरी की वारदातों को अंजाम दे रहे थे। कय्यूम चोरी करने में माहिर है। अय्यूब उसका सिर्फ साथ देता था।

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस