नई दिल्ली, एएनआइ/ जागरण संवाददाता। Odd-Even scheme:  ऑड इवेन व्यवस्था को सख्ती से लागू कराने के लिए यातायात पुलिस ने भी कमर कस ली है। ऑड-इवेन व्यवस्था का उल्लंघन करने पर जहां चालान काटे जा रहे हैं वहीं पुलिस चालकों को रोक उन्हें हिदायत देकर छोड़ दे रही है। सोमवार को यह व्यवस्था लागू होते ही इंडिया गेट के पास कार का चालान काटा गया।

वहीं गाजीपुर टोल पर ऑड नंबर की गाड़ियां चलाने पर यातायात पुलिस कर्मियों ने चालको को रोक कर समझाया। पुलिस ने कहा कि अभी चालान नहीं काट रहे हैं लेकिन आगे से चालान काटा जाएगा। वहीं उत्तर प्रदेश पुलिस कर्मी को भी ऑड नंबर की गाड़ी लाने पर दिल्ली पुलिस ने रोककर समझाया।  

ऑड-इवेन स्कीम लागू होने से कई लोगों को समस्याओं का भी सामना करना पड़ रहा है। कई इलाकों में पार्किंग की सुविधा न होने से लोगों को वापस लौटना पड़ा। वहीं आइटीओ के पास भी ऑड नंबर की गाड़ी का चालान काटा गया। चालान कटने के बाद कार ड्राइवर ने कहा कि वह एक जरुरी काम की वजह से रात में नोएडा से दिल्ली आया था। उसे इसके बारे में पता नहीं था।

अन्य राज्यों से दिल्ली में प्रवेश करने वाले वाहनों पर विशेष नजर रखी जा रही है। पता नहीं था, नंबर भूल गया, आपात स्थिति में जाना पड़ा, आगे से ध्यान रखूंगा, ऐसा कोई भी बहाना पुलिस सुनने को तैयार नहीं होगी। वहीं उन वाहनों का तत्काल चालान किया जाएगा जो धुआं फैलाते हुए चलते हैं। इसके लिए विशेष हिदायत सभी यातायात पुलिसकर्मियों को दी गई है। दिल्ली पुलिस ने ऐसे 200 स्थान चिह्न्ति किए हैं जहां पर नियमित वाहनों की चेकिंग की जाएगी।

ऑड इवेन के लिए निर्धारित दिन और समय का पालन न करने वाले लोगों को इस व्यवस्था का उल्लंघन करने का चालान तो भुगतना ही पड़ेगा, इस दौरान जांच में रोके जाने वाले वाहनों के कागजात में अगर किसी प्रकार की कोई कमी पाई गई, तो उसका भी चालान किया जाएगा। यातायात विभाग के उच्च अधिकारियों के मुताबिक इस योजना को लागू करने में किसी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

इलेक्ट्रॉनिक संदेश प्रसारित होगा

विभिन्न मेट्रो स्टेशनों पर ऑड-इवेन को लेकर इलेक्ट्रॉनिक संदेश प्रसारित होगा। सभी प्रमुख मेट्रो स्टेशनों पर 35 टीमों को तैनात किया जाएगा। टिकट प्रणाली के प्रबंधन के लिए अतिरिक्त लोग भी तैनात होंगे।

ऑड-इवन लागू होने के बाद सोमवार को जाम भी नहीं देखा जा रहा है। ऑफिस के समय में शाहदरा जीटी रोड पर जाम लगा रहता था, लेकिन अब रोड पर जाम नहीं है।

वहीं दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया का कहना है कि उत्तर भारत में पराली जलाने से दिल्ली में प्रदूषण बढ़ गया है। अगर दिल्ली के निवासी दस दिन तक ऑड-इवेन का पालन करेंगे तो निश्चित तौर पर लोगों को प्रदूषण से कुछ न कुछ जरुर राहत मिलेगी।

 

कैब चालक भी सहमत, बोले- देंगे पूरा समर्थन

ऑड-इवेन योजना को लेकर कैब चालक भी सहमत हैं। उनका कहना है कि यह हमारी सेहत का मामला है। जब सेहत सही रहेगी तभी रोजी-रोटी कमाएंगे। इसलिए हम इसे पूरा समर्थन देंगे। कैब चालक राजकुमार ने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण को देखते हुए ऑड-इवेन लागू होना जरूरी है। कैब चालक राजू का कहना है कि जो ग्राहक आएंगे उनको कोई दिक्कत नहीं होने देंगे।

वहीं दिल्ली टैक्सी टूरिस्ट ट्रांसपोर्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय सम्राट ने ऑड-इवेन को लेकर मुख्यमंत्री अर¨वद केजरीवाल पर निशाना साधा है। सम्राट ने कहा कि केजरीवाल ने ऑड-इवेन की कवायद सिर्फ ओला-उबर जैसी कंपनियों को आगे बढ़ाने और उनको फायदा पहुंचाने के लिए की है।

Delhi Pollution 2019 LIVE: दिल्ली-NOIDA में AIQ 700 के पार पहुंचा, हालात के मद्देनजर आज सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई

यह भी पढ़ेंः Air Pollution in Delhi: दिल्ली में प्रदूषण ने तोड़ा रिकॉर्ड, सरकार ने जारी की एडवाइजरी

यह भी पढ़ेंः दिल्ली के पीरागढ़ी इलाके में लगी भीषण आग, तीन दमकल कर्मचारी झुलसे

 दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

 

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस