नई दिल्ली [गौतम कुमार मिश्रा]। 2012 Delhi Nirbhaya case: निर्भया के गुनहगारों को फांसी पर लटकाने का आदेश मिलने से पहले तिहाड़ जेल प्रशासन सभी तैयारियां पूरी करने में जुट गया था। जेल संख्या-3 के फांसी घर में अभी एक बार में दो दोषियों को ही फंदे पर लटकाने की व्यवस्था थी इसलिए फांसी घर में ढांचे के ऊपरी प्लेटफार्म की चौड़ाई बढ़ाई जा रही थी, वो काम खत्म हो चुका है ताकि जरूरत पड़े तो एक साथ चारों दोषियों को फंदे पर लटकाया जा सके।

यहां एक सप्ताह से निर्माण कार्य चल रहा था और उधर से गुजरने वाले रास्ते पर चुनिंदा कर्मचारियों व जेल प्रशासन के भरोसेमंद कैदियों को ही आवाजाही की अनुमति थी। जेल प्रशासन ने लोक निर्माण विभाग से निर्माण और मरम्मत कार्यों में तेजी लाने को कहा था वो काम पूरे हो चुके हैं। 

जेल अधिकारियों ने पहले ही कह दिया था कि निर्णय जो भी हो, वो हर स्तर पर तैयारी कर रहे हैं। चाहे जल्लाद के इंतजाम की बात हो या फांसी घर में व्यवस्था पूरी करने की बात। सूत्रों का कहना है कि वर्तमान स्थिति में दोषियों को फांसी पर लटकाने में कई घंटे लग सकते हैं, इसलिए व्यवस्था जितनी जल्दी सही कर ली जाए, उतना ही अच्छा होगा। 

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021