नई दिल्ली [शुजाउद्दीन]। हर्ष विहार इलाके में रोडरेज में एक परिवार ने तीन भाइयों पर डंडों व पाइप से हमला कर अधमरा कर दिया। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपित मौके से फरार हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने जख्मी हालत में तीनों भाइयों को इलाज के लिए जीटीबी अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां उनका इलाज चल रहा है। आसिफ की शिकायत पर हत्या के प्रयास समेत विभिन्न धाराओं में प्राथमिकी पंजीकृत कर पुलिस मामले की जांच कर रही है।

आसिफ परिवार के साथ हर्ष विहार के राजीव नगर इलाके में रहते हैं। वह लिफ्ट मैकेनिक हैं। वह अपने छोटे भाई मुशर्रफ के साथ मोटरसाइकिल से राजीव नगर में ही रहने वाले अपने भाई यूसुफ के घर जा रहे थे। जब वह गली नंबर-तीन के पास पहुंचे तो उनकी मोटरसाइकिल एक युवक के हाथ से छू गई।

इसपर युवक ने उनके साथ गाली गलौज शुरू कर दी, पीड़ितों ने इसका विरोध किया तो उसने उनकी मोटरसाइकिल की चाबी निकाल ली। आसिफ ने फोन कर अपने भाई यूसुफ को भी मौके पर बुला लिया, उसी दौरान युवक के परिवार के भी कई सदस्य मौके पर पहुंच गए। आरोप है कि परिवार के सभी सदस्यों ने मिलकर तीनों भाइयों पर डंडो व पाइप से हमला कर दिया। पुलिस आरोपितों की तलाश कर रही है। 

उधर, दिल्ली से सटे गाजियाबाद के नंदग्राम थाना क्षेत्र में त्यागी मार्केट के पास खंबे में करंट उतरने से चपेट में आकर नंदग्राम के अनिल सिंह रावत ( 42 ) की मौत हो गई। शुक्रवार को दिन भर हुई बारिश के कारण जलभराव से खंबे में करंट उतर आया था, जिससे यह हादसा हुआ। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। शुक्रवार दिन में उसी जगह करंट लगने से एक कुत्ते की भी मौत हुई थी।

आरोप है कि लोगों ने बिजली विभाग से शिकायत की लेकिन अधिकारियों ने इस तरफ ध्यान नहीं दिया। मृतक के स्वजन ने प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाया है।अनिल सिंह के भतीजे प्रवीन सिंह ने बताया कि उनके चाचा मेरठ रोड पर एक बिस्कुट फैक्टरी में काम करते हैं। शाम सात बजे से उनकी ड्यूटी होती है, वह फैक्ट्री जा रहे थे कि अचानक करंट लगने से उनकी मौत हो गई। नंदग्राम पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। अनिल का परिवार उत्तराखंड रामनगर में रहता है।

Edited By: Pradeep Kumar Chauhan