नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। नई दिल्ली के मंदिर मार्ग इलाके में तीन बदमाशों ने पुलिसकर्मी बनकर एक कारीगर से चेकिंग के बहाने आठ लाख रुपये के जेवरात ठग लिये। बदमाशों ने जेवरात से भरा बैग अपने कब्जे में लेकर व्यापारी को उससे संबंधित कागजात लाकर दिखाने के बहाने घर भेज दिया। कुछ देर बाद जब वह दस्तावेज लेकर पहुंचा तो आरोपित फरार हो चुके थे।

कई बड़े ज्‍वेलर्स के लिए करते हैं काम

पीड़ित कारीगर दिपांकर धुलिया ने मंदिर मार्ग थाना पुलिस को बताया कि वह करोलबाग का रहने वाला है। वह दिल्ली के कई बड़े ज्वेलर्स के लिए आभूषण बनाने का काम करते हैं। ज्वेलर्स के पास जाने के लिए वह एक ही ऑटो का इस्तेमाल करते हैं। शुक्रवार दोपहर वह ऑटो रिक्शा से खानपुर के एक ज्वेलर से करीब 20 तोला कच्चा सोना लेकर आभूषण बनाने के लिए करोलबाग स्थित अपनी दुकान पर जा रहे थे।

शहीद भगत सिंह मार्ग पर ओवरटेक कर रोका

वह जैसे ही शहीद भगत सिंह मार्ग पर पहुंचे तो बाइक सवार दो बदमाशों ने ऑटो को ओवरटेक कर रोक लिया और खुद को पुलिस वाला बताकर पूछताछ करना शुरू कर दिया। इस दौरान उन्होंने पुलिस के वर्दी भी नहीं पहनी हुई थी। जब ऑटो चालक ने विरोध जताया तो दोनों आरोपितों ने पुलिस का रौब दिखाते हुए उसे डांट कर चुप करा दिया।

बदमाशों ने मांगा सोने का बिल

बैग में सोना देखकर बदमाशों ने पूछा कि सोने का बिल कहां है? दिपांकर ने कहा कि बिल उनके पास नहीं है, क्योंकि वह सोने से गहने बनाने का काम करता है। इसमें बिल की जरूरत नहीं होती। तभी एक और बदमाश वहां आ गया। बदमाशों ने उसे अधिकारी बताया। आते ही उसने भी बिल मांगा व बैग को अपने हवाले ले लिया। बैग में आठ लाख रुपये मूल्य का सोना के साथ ही साढ़े चार लाख का एक चेक भी था।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरो को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस