नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों के किसानों का धरना प्रदर्शन जारी है। इस बीच कृषि कानूनों के विरोध में बृहस्पतिवार (22 जुलाई) को दिल्ली में संसद भवन के सामने किसानों के प्रस्तावित विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर दिल्ली पुलिस सतर्क हो गई है।दिल्ली पुलिस ने पिछले दिनों ही कह दिया है कि दिल्ली मेट्रो रेल निगम (Delhi Metro Rail Corporation) अपने उन 8 मेट्रो स्टेशनों पर सूचना मिलते ही बंद कर देगा, जहां पर किसानों के इकट्ठा होने की संभावना है। दिल्ली पुलिस की ओर से कहा गया है कि किसानों के प्रदर्शन के मद्देनजर जनपथ, लोक कल्याण मार्ग, पटेल चौक, राजीव चौक, केंद्रीय सचिवालय, मंडी हाउस और उद्योग भवन पर किसानों का जमघट हो सकता है। ऐसे में जरूरत पड़ने पर बंद करना होगा। इस बाबत दिल्ली पुलिस ने डीएमआरसी को भेज पत्र में गुजारिश की गई है। इसके साथ ही नई दिल्ली जिले के डीसीपी ने सात मेट्रो स्टेशनों और नयी दिल्ली क्षेत्र के आसपास आने वाले मेट्रो स्टेशनों पर विशेष निगरानी रखने को कहा है।

ये हैं वो 7 मेट्रो स्टेशन

  1. जनपथ मेट्रो स्टेशन (Janpath Metro Station)
  2. लोक कल्याण मार्ग मेट्रो स्टेशन (Lok Kalyan Marg Metro Station)
  3. पटेल चौक मेट्रो स्टेशन (Patel Chowk Metro Station)
  4. राजीव चौक मेट्रो स्टेशन (Rajiv Chowk Metro Station)
  5. केंद्रीय सचिवालय मेट्रो स्टेशन (Central Secretariat Metro Station)
  6. मंडी हाउस मेट्रो स्टेशन (Mandi House Metro Station)
  • उद्योग भवन मेट्रो स्टेशन (Udyog Bhawan Metro Station)

Indian Railway News: अब कम किराये में भी कर सकेंगे एसी कोच में सफर, लाखों रेल यात्रियों को मिलेगा लाभ

यह भी पढ़ेंः केजरीवाल के मंत्री बोले- हमसे कोई रिपोर्ट नही मांगी गई, लोगों के घावों पर नमक छिड़ रही है केंद्र सरकार

संसद जाने वाले हर रास्ते पर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त

वहीं, मानसून सत्र के दौरान कृषि कानून विरोधी प्रदर्शनकारी कहीं दिल्ली में घुसकर व्यवधान पैदा न कर सकें। इसे लेकर दिल्ली पुलिस अतिरिक्त सतर्कता बरत रही है। संसद की तरफ जाने वाले सभी मार्गो पर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। पुलिस आयुक्त (सीपी) बालाजी श्रीवास्तव ने पिछले दिनों खुद तमाम वरिष्ठ अधिकारियों के साथ सुरक्षा व्यवस्था का जायजा किया। इसके साथ ही सिंघु व गाजीपुर सीमा सहित लाल किला का दौरा कर अधिकारियों को जरूरी दिशा-निर्देश दिए हैं। बता दें कि सोमवार से संसद का मानसून सत्र शुरू हो गया है। आयुक्त के दौरे के मद्देनजर पूरे शहर में 30 हजार से अधिक पुलिसकर्मी सड़कों पर मुस्तैद हैं। लाल किला और संसद परिसर के अलावा सिंघु, टीकरी और गाजीपुर सीमाओं पर सुरक्षा व्यवस्था का निरीक्षण करने के दौरान आयुक्त के साथ विशेष आयुक्त, संयुक्त आयुक्त और डीसीपी मौजूद थे। इस दौरान उन्होंने ड्यूटी पर तैनात कर्मचारियों से विस्तृत बातचीत की और उन्हें 24 घंटे सर्तक रहने के लिए कहा है। उन्होंने पुलिसकर्मियों से कहा कि उन पर जनता के भरोसे को बनाए रखने की अहम जिम्मेदारी है। शहर न कभी सोता है, और न पुलिस सोती है। दिल्ली पुलिस ने स्वतंत्रता दिवस से पहले राजधानी में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम भी शुरू कर दिए हैं। सभी थानाध्यक्षों से घरेलू सहायक, सहायिका, चालकों व किरायेदारों के सत्यापन का काम जल्द पूरा करें। होटल, गेस्ट हाउस, पार्किंग में खड़े वाहनों पर भी नजर रखें।

यह भी पढ़ेंः Delhi Metro में सफर करने वालों को अगले सप्ताह मिल सकती है बड़ी राहत, लंबी लाइन से मिलेगा छुटकारा!

ये भी पढ़ेंः ट्रेन में सफर के दौरान न करें ये गलती, 16 दिन में 22,410 यात्रियों से वसूला 1.17 करोड़ रुपये जुर्माना; 175 की हुई मजिस्ट्रेट के सामने पेशी

यह भी पढ़ेंः कोरोना काल में पैसे की तंगी झेल रहे कलाकारों के लिए झलका अक्षय कुमार का दर्द, दिए 50 लाख रुपये

ये भी पढ़ें- Kisan Andolan: दिल्ली पुलिस और किसानों की बीच बनी सहमति, 200 किसानों को मिली जंतर-मंतर तक जाने की इजाजत

ये भी पढ़ें- राकेश टिकैत बोले, अब देश के करोड़ों किसानों की नजर सांसदों पर, देखेंगे कैसे उठाई जा रही उनकी आवाज

 

Edited By: Jp Yadav