नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। दिल्ली-एनसीआर में लगातार कई दिनों से वायु प्रदूषण का स्तर बेहद खराब श्रेणी में बना हुआ है। इस बीच वायु गुणवत्ता एवं मौसम पूर्वानुमान और अनुसंधान प्रणाली (SAFAR) के मुताबिक, राजधानी  दिल्ली में बुधवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 331 पाया गया है, जो बहुत खराब श्रेणी में आता है। सफर इंडिया का यह भी पूर्वानुमान है कि दिल्ली-एनसीआर में अभी दो तीन दिन तक वायु गुणवत्ता के स्तर में ज्यादा बदलाव की संभावना नहीं है। वहीं, पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने के चलते आगामी 22 जनवरी को बारिश होने का पूर्वानुमान है। इसके बाद दिल्ली-एनसीआऱ के  वायु गुणवत्ता में भी सुधार हो सकता है।

वहीं, अधिकतम तापमान में गिरावट और वातावरण में नमी अधिक होने से मंगलवार को दिल्ली के साथ-साथ एनसीआर के शहरों में भी वायु गुणवत्ता का स्तर बहुत खराब श्रेणी में दर्ज किया गया। सभी जगहों का एयर इंडेक्स 300 से ऊपर रहा।

उधर, केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) द्वारा जारी एयर क्वालिटी बुलेटिन के अनुसार मंगलवार को दिल्ली का एयर इडेक्स 352 रिकार्ड हुआ। सोमवार को यह 327 था। 24 घंटों के भीतर इसमें 25 अंकों की वृद्धि दर्ज हुई। एनसीआर के शहरों में फरीदाबाद का एयर इंडेक्स 334, गाजियाबाद का 347, ग्रेटर नोएडा का 325, गुरुग्राम का 315 व नोएडा का 337 रिकार्ड किया गया। दिल्ली में पीएम 2.5 का स्तर 160 जबकि पीएम 10 का स्तर 272 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर रहा।

इस बीच सफर इंडिया का पूर्वानुमान है कि फिलहाल दो तीन दिन वायु गुणवत्ता के स्तर में ज्यादा बदलाव की संभावना नहीं है। 22 जनवरी को बारिश होने का पूर्वानुमान है। तभी वायु गुणवत्ता में भी सुधार हो सकता है, लेकिन बारिश का असर कम होते ही वायु गुणवत्ता सूचकांक फिर बढ़ जाएगा।

Edited By: Jp Yadav