नई दिल्ली [संजीव कुमार गुप्ता]। राजधानी दिल्ली में ठंड इस बार नित नए रिकॉर्ड बना रही है। अक्टूबर की ठंड ने पिछले 58 सालों का रिकॉर्ड तोड़ा ता तो अब नवंबर में आए दिन पिछले कई सालों और दशकों का रिकॉर्ड टूट रहा है। इस माह के 22 दिनों में ही ऐसी अनेक सुबह दर्ज हो चुकी हैं, जो 2010 के बाद से सबसे ठंडी सुबह रहीं। अब न्यूनतम तापमान के साथ साथ अधिकतम तापमान में भी गिरावट दर्ज की जा रही है। दिल्ली के साथ एनसीआर के शहरों नोएडा-ग्रेटर नोएडा के साथ गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत, रेवाड़ी और गाजियाबाद में भी जबरदस्त ठंड हो रही है।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (Indian Meteorological Department) के मुताबिक, रविवार को दिल्ली का न्यूनतम तापमान सामान्य से 4.4 डिग्री कम 6.9 डिग्री सेल्सियस रहा। 2006 से लेकर अभी तक नवंबर माह का यह सबसे कम न्यूनतम तापमान है। 2006 में 29 नवंबर को न्यूनतम तापमान 7.3 डिग्री रहा था। हालांकि मौसम विभाग अभी अपना पिछला रिकॉर्ड खंगाल रहा है। शायद आज का रिकॉर्ड और बड़ा हो सकता है। यहां यह भी बता दें कि शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 7.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ था। यानी नवंबर में हर रोज ठंड नया रिकॉर्ड बना रही है। पहले जो ठंड दिसंबर में पड़ा करती थी, इस साल दिल्ली वाली नवंबर में ही महसूस कर रहे हैं।

स्काईमेट वेदर के मुख्य मौसम विज्ञानी महेश पलावत ने बताया इतना कम तापमान जाने और ठंड बढ़ने की मुख्य रूप से दो वजह हैं। पहली यह कि इन दिनों आसमान साफ चल रहा है। बादल बिल्कुल नहीं हैं। इस तरह के मौसम में गर्मी और सर्दी दोनों तेजी से बढ़ते हैं। दूसरी वजह यह कि हवा इस समय शांत यानि गतिहीन है। इससे सुबह धुंध भी बढ़ रही है। जल्द ही कुहासा भी पड़ने की संभावना है। उन्होंने बताया कि सोमवार को भी कमोबेश ऐसा ही मौसम बना रहेगा। अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमशः 24 और 7 डिग्री रहने की संभावना है।

 

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप