नोएडा [जेएनएन]। उत्तर प्रदेश पुलिस के दो पुलिसकर्मियों लापरवाही इस वक्त महकमे में चर्चा का विषय बनी हुई है। मामला उस वक्त का है जब जब पुलिस महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह (डीजीपी ओपी सिंह) अचानक गौतमबुद्ध नगर जिला के नोएडा स्थित आम्रपाली पुलिस चौकी का निरीक्षण करने पहुचे थे।

वर्दी में नहीं थे दारोगा 

निरीक्षण करने पहुचे सीनियर अधिकारी का सम्मान करने के बजाय दारोगा और सिपाही डीजीपी से बहस करने लगे। जिस समय डीजीपी अचानक वहां पहुंचे उस समय चौकी इंचार्ज और सिपाही बिना वर्दी और कैप के थे। सब इंस्पेक्टर हरि भान सिंह और कॉन्स्टेबल योगेश कुमार से डीजीपी ने जब सवाल किये तो दोनों पुलिसकर्मी बहस करने लगे। 

दारोगा और सिपाही को निलंबित

सिविल ड्रेस में डीजीपी के पहुंचने की सूचना मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में एसएसपी मौके पर पहुंचे और अनुशासनहीनता करने वाले दारोगा और सिपाही को निलंबित कर दिया। डीजीपी के जाने के बाद थाने के पुलिसकर्मियों ने राहत की सांस ली।

आम जनता के साथ कैसा होता होगा बर्ताव 

नोएडा पुलिस न तो डीजीपी को पहचान सकी और न ही उनका सम्मान नहीं कर पाई। अब सवाय ये है कि जब पुलिस के आला अधिकारी के साथ ही ऐसा व्यव्हार देखने को मिला तो आम जनता के साथ पुलिसकर्मी कैसे पेश आते होंगे इसका अंदाजा आप खुद लगा सकते हैं। 

Posted By: Amit Mishra