नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। साकेत स्थित ज्ञान भारती स्कूल के 10वीं से 11वीं में क्रमोन्नत होने वाले 19 छात्रों ने आरोप लगाया कि स्कूल ने उनका नाम काट दिया है। सभी छात्र आर्थिक पिछड़ा वर्ग (ईडब्ल्यूएस) के हैं। छात्रों के मुताबिक स्कूल में 11वीं की आनलाइन कक्षाएं चल रही हैं, लेकिन उन्हें इन कक्षाओं में शामिल नहीं किया गया है। इन सभी छात्रों के अभिभावकों ने मामले की शिकायत आल इंडिया पैरेंट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक अग्रवाल से की। छात्रों ने कहा कि 11वीं कक्षा की 26 जून से यूनिट परीक्षाएं हैं। उनकी पढ़ाई छूट रही है। ऐसे में अगर स्कूल सोमवार तक उनका दाखिला नहीं लेता है तो मंगलवार को वे अपने अभिभावकों के साथ कोर्ट में मामला दर्ज कराएंगे।

वहीं, आल इंडिया पैरेंट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक अग्रवाल ने बताया कि उन्होंने छात्रों की कक्षाएं शुरू करने को लेकर स्कूल को पत्र लिखा था। इसके बाद स्कूल ने सभी अभिभावकों से आय प्रमाण पत्र की मांग की थी, लेकिन आय प्रमाण पत्र देने के बाद भी स्कूल ने इनका दाखिला नहीं लिया।

ऐसे में उन्होंने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और स्कूल को पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने सभी छात्रों को आनलाइन कक्षा में शामिल करने की बात कही है। उन्होंने कहा कि स्कूल की ओर से सोमवार तक अगर इन छात्रों को आनलाइन कक्षाओं में नहीं जोड़ा जाता है तो वे मामले को हाई कोर्ट लेकर जाएंगे। वहीं, स्कूल की उपप्रधानाचार्या के मुताबिक उन्हें इस मामले की जानकारी नहीं है।

Edited By: Mangal Yadav