नई दिल्ली [राहुल चौहान]। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) ने संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), बहरीन और सिंगापुर के शिक्षण संस्थानों में भी अपने कोर्स शुरू करने के लिए शुक्रवार को एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं।

इग्नू के अंतरराष्ट्रीय प्रभाग की ओर से सिंगापुर के सीएलएएससीएमए इंटरनेशनल एजुकेशन एवं रिसर्च सेंटर, पीएमसी अकादमी प्राइवेट लिमिटेड, बहरीन के मनामा स्थित यूनिग्रेड एजुकेशन सेंटर डब्ल्यूएलएल और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के अबूधाबी स्थित विजडम एजुकेशनल कंसल्टेंट के साथ इग्नू के कुलपति प्रो. नागेश्वर राव ने एमओयू पर हस्ताक्षर किए।

इस दौरान प्रो. राव ने कहा कि यह एमओयू राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 में अनिवार्य रूप से उच्च शिक्षा के अंतरराष्ट्रीयकरण के उद्देश्य को पूरा करने की दिशा में एक कदम है। इस मौके पर सभी प्रो-वाइस चांसलर, कुलसचिव और निदेशक मौजूद थे।

इस दौरान अंतर्राष्ट्रीय प्रभाग के निदेशक प्रो. जितेंद्र कुमार श्रीवास्तव ने तीनों संस्थानों के प्रतिनिधियों का स्वागत किया और बताया कि तीन नए संस्थानों के जुड़ने से विश्वविद्यालय के कार्यक्रमों में विदेशी छात्रों के नामांकन में काफी वृद्धि होगी।

उल्लेखनीय है कि इग्नू दूरस्थ शिक्षा में स्नातक, स्नातकोत्तर, डिप्लोमा और सर्टिफेट कोर्स सहित 200 से ज्यादा कोर्स उपलब्ध कराता है। इसके अलावा 50 से ज्यादा आनलाइन कोर्स भी इग्नू द्वारा उपलब्ध कराए जाते हैं।

Edited By: Geetarjun Gautam