नई दिल्ली [संतोष शर्मा] इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती सात दिन की बच्ची के लिए प्लेटलेट लेकर जा रहे परिजनों की कार को नई दिल्ली के तिलक मार्ग इलाके में तेज रफ्तार बीएमडब्ल्यू कार ने जोरदार टक्कर मार दी। टक्कर से बच्ची के परिजन बुरी तरह घायल हो गए और बच्ची को समय पर प्लेटलेट नहीं चढ़ सका। जिसके कारण प्लेटलेट के अभाव में मासूम ने दम तोड़ दिया। इस मामले में पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर कार जब्त कर ली है अौर कार चालक शाहजेब शेख को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस फिलहाल मामले की छानबीन कर रही है।

पुलिस के मुताबिक शक्ति सिंह परिवार के साथ त्रिलोकपुरी इलाके में रहते हैं। सात दिन पहले ही उनके छोटे भाई विशाल को बच्ची हुई थी। खून में हीमोग्लोबिन का स्तर खतरनाक तस्कर पर पहुंच जाने के कारण बच्ची को इलाज के लिए लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल में भर्ती काया गया था। शनिवार की देर रात बच्ची की हालत ज्यादा बिगड़ गई तो डाक्टरों ने बच्ची के परिजनों को तुरंत प्लेटलेट लाने को कहा था।

डाक्टरों के कहने पर शक्ति सिंह अपनी पत्नी और बहन के साथ 11 जुलाई की तड़के रेड क्रास सोसाइटी से बच्ची के लिए प्लेटलेट लेकर बैगनआर कार से अस्पताल जा रहे थे। तड़के करीब 3.30 बजे वे भगवान दास रोड क्रासिंग से गुजर रहे थे। तभी आईटीओ की तरफ से एक तेज रफ्तार सफेद रंग की बीएमडब्लू कार आई और शक्ति सिंह की कार में जोरदार टक्कर मार दी।

टक्कर से बैगनआर कार बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई और उसमें मौजूद तीनों लोग बेहोश हो गए। वहीं, बीएमडब्लू सीरीज-5 का चालक शाहजेब शेख एयर बैग खुलने के कारण बाल-बाल बच गया। उधर दुर्घटना की जानकारी के बाद पुलिस शक्ति सिंह सहित तीनों घायलों को राम मनोहर लोहिया अस्पताल ले गई। काफी देर इलाज के बाद तीनों को होश अाया तो उन्होंने घटना के बारे में अपने परिजनों को जानकारी दी। परिजनों ने छानबीन की तो पता चला कि दुर्घटना के कारण कार में रखा प्लेटलेट खराब हो चुका है। दोबारा से प्लेटलेट का जुगाड़ करने का प्रयास किया गया। लेकिन इसी बीच सुबह करीब अाठ बजे शक्ति सिंह को मासूम की मौत की खबर मिली। बच्ची की मौत की जानकारी मिलते ही परिवार में चीख-पुकार मच गई।

दरअसल काफी मन्नत के बाद सिंह परिवार में बच्ची की जन्म हुआ था। बच्ची की मौत से खुशी का माहौल गमगीन हो गया। नई दिल्ली के डीसीपी ईश सिंघल ने कहा कि इस संबंध में तिलक मार्ग थाना पुलिस ने लापरवाही से वाहन चलाने और अन्य धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर आरोपित चालक शाहजेब शेख को गिरफ्तार कर लिया। कार सेकंड हैंड है। तुर्कमान गेट निवासी शाहजेब शेख पुरानी कार की खरीद बिक्री करता है। उक्त कार किसी कारोबारी का बताया जा रहा है। पुलिस कार मालिक की पहचान कर रही है। पुलिस अधिकारी ने कहा कि तेज गति से कारण दुर्घटना हुई। उन्होंने चालक के नशे में होने की बात से इंकार किया है। मामले की छानबीन की जा रही है।

लक्ष्मी के आने पर भंडारे की कर रहे थे तैयारी

शक्ति सिंह तीन भाइयों में दूसरे नंबर पर हैं। बड़े भाइ और शक्ति सिंह को दो-दो बेटे हैं। परिवार में कोई बेटी नहीं है। गत वर्ष उनके छोटे भाई विशाल की शादी हुई थी। परिवार के सदस्य शादी के बाद से ही बेटी की चाहत लिए हुए थे। दरअसल परिवार में कोई बच्ची नहीं होने के कारण उन्होंने बेटी की मन्नत मांग रखी थी। ईश्वर ने जब लक्ष्मी के रुप में बच्ची को भेजा तो परिवार खुशियों से फूला नहीं समा रहा था। शक्ति सिंह ने बताया कि छोटे भाई को बेटी होने पर परिवार के लोग काफी खुश थे। उन्होंने धूमधाम से भंडारे की योजना बनाई थी। भंडारे के लिए सामान की बुकिंग भी कर दी थी। लेकिन इसी बीच हादसा हो गया। हादसे से पूरा परिवार सदमे में है। शक्ति सिंह ने बताया कि मन की मुराद मन में रह गई।

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस