नई दिल्ली, जागरण डिजिटल डेस्क। Delhi Pollution: दिल्ली-एनसीआर में सर्दियों के आगमन के साथ ही प्रदूषण का स्तर एक बार बढ़ने लगा है। पिछले तीन दिनों से वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 'खराब' और 'बेहद खराब' श्रेणी में बना हुआ है। सोमवार सुबह राजधानी और सटे शहरों के ऊपर स्मॉग की मोटी परत के साथ औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक 317 दर्ज किया गया। रविवार को भी दिल्ली में एक्यूआई 315 (बहुत खराब) था।

सफर इंडिया ने मंगलवार तक एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 300 से ऊपर ही बने रहने के आसार जताए हैं। रविवार को भी हवा में मानकों से ढाई गुना से भी ज्यादा प्रदूषण मौजूद रहा। दिल्ली के ज्यादातर इलाकों का एक्यूआइ बेहद खराब श्रेणी में बना हुआ है। दिल्ली की हवा में इस समय मानकों से ढाई गुना से अधिक प्रदूषण मौजूद है।

पूरे हफ्ते प्रदूषण से राहत की उम्मीद नहीं

मौसम विभाग के अनुसार, दिल्ली में 28 और 29 नवंबर को प्रदूषण में और इजाफा होने की संभावना है। इसका स्तर बेहद खराब ही बना रहेगा। वहीं, 30 नवंबर को भी एक्यूआई 300 के ऊपर ही रहेगा। इसके बाद पूरे हफ्ते  हवा में प्रदूषण का स्तर हद खराब बना रहेगा।  दिल्ली में इस समय हवा उत्तर पश्चिमी दिशा से आ रही है। इसके साथ पराली का प्रदूषण भी आ रहा है।

एनसीआर के शहरों में भी हवा जहरीली

वहीं एनसीआर के शहरों की बात करें तो रविवार को फरीदाबाद का एक्यूआइ 300, गाजियाबाद का 274, ग्रेटर नोएडा का 343, गुरुग्राम का 310 और नोएडा का 293 रिकार्ड हुआ। फरीदाबाद, गाजियाबाद और नोएडा का एक्यूआइ खराब जबकि गुरुग्राम और ग्रेटर नोएडा का बेहद खराब श्रेणी में रहा। पर्यावरण विशेषज्ञों के अनुसार मौसमी परिस्थितियों में हुए बदलाव का असर वायु गुणवत्ता पर भी दिख रहा है।

हवा की दिशा के चलते प्रदूषण में इजाफा

सफर का अनुमान है कि अगले तीन दिनों के बीच मौसमी कारकों की स्थिति ऐसी ही बने रहने की संभावना है। इस दौरान हवा की गति छह से दस किलोमीटर प्रति घंटे की रहने की संभावना है। हवा की दिशा उत्तर पश्चिमी ही रहेगी। इसके चलते प्रदूषक कणों का फैलाव धीमा होगा।

Weather: भीषण ठंड के लिए तैयार रहें दिल्ली-एनसीआर के लोग, 7 डिग्री तक गिरेगा पारा; अगले महीने शीतलहर की दस्तक

Edited By: Aditi Choudhary

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट