नई दिल्ली [स्वदेश कुमार]। पूर्वी निगम के सभी 357 स्कूलों को सुविधाओं से लैस किया जाएगा। इन सभी को माडल स्कूल बनाने का प्रस्ताव शिक्षा समिति की बैठक में पास किया गया है। बैठक में बताया गया कि इसके पहले फेज में 21 को माडल स्कूल के रूप में तब्दील किया जा चुका है। इन स्कूलों से संबंधित वीडियो भी बैठक में दिखाया गया। इसके अलावा शिक्षकों को प्रशिक्षण के लिए विदेश भेजने और सभी स्कूलों में अंग्रेजी माध्यम की पढ़ाई शुरू कराने का भी प्रस्ताव पास हुआ है। बैठक में सदस्य उदय कौशिक की तरफ से एक प्रस्ताव पेश किया गया। इसमें पंडित दीनदयाल उपाध्याय योजना के तहत संस्कारी बच्चों को पुरस्कृत करने की बात कही गई है। इसे भी पास किया गया है।

बैठक की अध्यक्षता कर रहे चेयरमैन राजीव कुमार ने बताया कि निगम के सभी स्कूलों को बेहतर किया जाएगा। अब तक 21 को माडल स्कूल के रूप में तब्दील किया जा चुका है। यहां बच्चों के लिए बेहतर सुविधाएं दी गई हैं। हरियाली के साथ उनके खेल-कूद का भी पूरा प्रबंध इनमें किया गया है। इसी तरह से सभी स्कूलों का कायाकल्प करने की योजना है। इस पर सदस्यों ने सुझाव रखे। उदय कौशिक ने कहा कि इन स्कूलों में शिक्षा समिति के सदस्यों के दौरे की व्यवस्था की जाए ताकि कमियों का पता लगाकर उन्हें दूर किया जा सके। उदय कौशिक ने निजी प्रस्ताव पेश किया। इसमें उन्होंने पंडित दीनदयाल उपाध्याय योजना में बच्चों को प्रभु श्रीराम के चरित्र का अनुकरण करने के लिए प्रेरित किया जाए।

हर स्कूल में संस्कारी और अनुशासित बच्चों को पुरस्कृत किया जाए। सदस्य स्वाति गुप्ता ने कहा कि माडल स्कूलों में आत्मरक्षा का प्रशिक्षण दिया जाए। इसके लिए प्रशिक्षकों की नियुक्ति की जाए। साथ ही योग की भी कक्षाएं शुरू की जाएं। उन्होंने कहा कि निगम स्कूलों में टीकाकरण केंद्र बनाने की सूचना आ रही है। इस पर शिक्षा विभाग की निदेशक निधि मलिक ने कहा कि ऐसा कोई आदेश अभी जारी नहीं हुआ है। निगम के स्कूल में टीकाकरण केंद्र तभी होगा जब आसपास कोई विकल्प न हो। स्वाति गुप्ता ने कहा कि 29 नवंबर से स्कूल खुल रहे हैं। ऐसे में कोरोना नियमों का पालन सुनिश्चित हो।

समिति के सदस्य रोमेश चंद्र गुप्ता ने कहा कि उनके अध्यक्ष रहते यमुना खादर में शिक्षा से वंचित करीब 3 हजार बच्चों का पता लगाया गया था। इनमें से एक हजार का दाखिल अलग-अलग स्कूलों में कराया गया। बाकी बच्चों के लिए खादर में ही अस्थायी स्कूल शुरू करने की योजना थी। इस पर तेजी से काम हो। इस पर राजीव कुमार ने शिक्षा निदेशक से स्थिति रिपोर्ट मांगी। उन्होंने कहा कि इस पर गंभीरता से काम किया जाएगा। आप पार्षद रेशमा नदीम ने कहा कि जाफराबाद स्कूल में पहले से शिक्षकों की कमी है। इस बीच वहां से शिक्षकों को दूसरी जगह स्थानांतरित किया जा रहा है। इस पर तुरंत रोक लगाई जाए।

  • कुल विद्यालय : 357
  • निगम प्रतिभा विद्यालय : 124
  • सहायता प्राप्त : 11
  • माडल स्कूल : 21
  • कुल विद्यार्थी : दो लाख 

Edited By: Pradeep Chauhan