नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दो वर्षो से चल रहे चांदनी चौक की पुनर्विकास परियोजना का पहला चरण गणतंत्र दिवस (26 जनवरी) तक पूरा होने की उम्मीद कम ही है। अभी इसे अंतिम रूप देने का काम दिन में चल रहा है। शाहजहांनाबाद पुनर्विकास निगम (एसआरडीसी) ने रात में भी काम करने के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है।

पिछले वर्ष सुप्रीम कोर्ट ने राजधानी में निर्माण कार्यो पर लगाए प्रतिबंध को सशर्त हटाया था, जिसमें रात में भी प्रतिबंध रहने की व्यवस्था है। इसके पहले सुप्रीम कोर्ट ने वायु प्रदूषण को देखते हुए दीपावली पर अक्टूबर में निर्माण कार्यो पर पूरा प्रतिबंध लगाया था। इसकी जद में चांदनी चौक का पुनर्विकास काम भी आ गया था। दो माह तक काम ठप रहा।

दिसंबर 2018 में जब परियोजना पर काम शुरू हुआ था तो दावा था कि सालभर में यह पूरा हो जाएगा, लेकिन यह अब भी चल रहा है। हालिया दावे में एसआरडीसी ने कहा है कि इस वर्ष मार्च तक काम पूरा कर लिया जाएगा, लेकिन मौजूदा काम के हालात देखकर ऐसा नहीं लगता है।

इससे यहां के दुकानदारों की नाराजगी बढ़ती जा रही है। एसआरडीसी से जुड़े लोगों के मुताबिक यह मुगलकालीन शहर है। खोदाई में तमाम अड़चने आने के बाद, निर्माण कार्य पर प्रतिबंध और आपत्तियां भी रही। अगर सुप्रीम कोर्ट रात में भी काम करने की इजाजत दे तो इसमें तेजी आ जाएगी। फिलहाल पहले भाग को 26 जनवरी तक पूरा करने की पूरी कोशिश है।

Delhi Weather Update: फिर बढ़ी सर्दी, ठंडी हवा ने बढ़ाई ठिठुरन, जानिए कब होगी बारिश

दोषियों की माफी पर निर्भया की मां ने कहा- भगवान भी कहें तो दोषियों को माफ नहीं करूंगी

गुड़िया के पिता बोले, दरिंदगी याद कर कांप उठती है रूह, जल्‍द मिलना चाहिए था न्‍याय

 

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस