नई दिल्ली, एएनआइ। RFL funds misappropriation case: रैनबैक्सी के पूर्व प्रमोटर मलविंदर सिंह और उनके भाई शिविंदर की दिवाली अब जेल में मनेगी। दिल्ली की साकेत कोर्ट ने मलविंदर और शिविंदर सिंह को 31 अक्टूबर तक न्यायिक हिरास में भेज दिया है। इसके अलावा तीन अन्य आरोपितों को भी 31 अक्टूबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेजा गया है।

रैनबैक्सी के पूर्व प्रमोटर के अलावा पूर्व चेयरमैन सुनील गोधवानी, पूर्व सीईओ कवि अरोड़ा और पूर्व फाइनेंस चीफ अनिल सक्सेना की दिवाली अब जेल में ही मनेगी।

इससे पहले इन आरोपितों को दो दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेजा गया था। जिसकी अवधि खत्म होने के बाद कोर्ट ने फिर से न्यायिक हिरासत बढ़ा दी।

दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने अभी हाल में ही इन सभी आरोपितों को 740 करोड़ की हेराफेरी मामले में गिरफ्तार किया था। इन पर आरोप है कि सार्वजनिक धन का अपनी कंपनी में गैर कानूनी ढंग से निवेश किया। रेलिगेयर फिनवेस्ट के अधिकारी ने मलविंदर बंधुओं और अन्य पर पुलिस में मामला दर्ज करवाया था। बता दें कि इसी साल अगस्त में रैनबैक्सी के प्रमोटर मलविंदर सिंह के ठिकानों पर छापेमारी की गई थी। ईडी ने इन पर मनी लॉड्रिंग कानून के तहत मामला दर्ज करवाया था।

Good News: आम्रपाली के खरीदारों को दिवाली का तोहफा, 900 फ्लैट की जल्द होगी रजिस्ट्री

Air pollution in Delhi: प्रदूषण से जंग में कारगर साबित हो रही बिजली, आप भी करें मदद

 

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस