नई दिल्ली [नेमिष हेमंत]। केंद्र सरकार द्वारा अमेरिकी-चीनी वीडियो कांफ्रेंसिंग एप जूम को लेकर सुरक्षा संबंधी एडवाइजरी जारी करने के बाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ भी इस एप से ‘नमस्ते’ कहने की तैयारी में है। इस दिशा में गंभीरता से आगे बढ़ते हुए इसके विकल्प के रूप में अन्य देसी-विदेशी एप आजमाई जा रही हैं। इस बीच, एहतियातन मौजूदा समय में जूम पर हो रही संघ की राष्ट्रीय से जिला स्तर की सभी बैठकों तथा ई-शाखाओं के लिए नए सिरे से सुरक्षा संबंधी निर्देश जारी किए गए हैं। स्वयंसेवकों को इस एप के इस्तेमाल में सावधानी को लेकर उन्हें प्रशिक्षित भी किया जा रहा है।

लॉकडाउन के बाद से संघ ने अपनी अधिकांश गतिविधियों को इस लोकप्रिय एप पर स्थानांतरित कर दिया है। संघ के भीतर ही इस एप के लाखों यूजर्स हैं। संघ के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने कहा कि इसके विकल्प के रूप में भारतीय एप से -नमस्ते.इन के अलावा गूगल हैंगआउट, माइक्रोसाफ्ट टीम व वेब एक्स जैसे आभासी वीडियो कांफ्रेंसिंग व्यवस्थाओं का प्रयोग शुरू किया गया है।

केंद्र सरकार भी अपना एप लाने की तैयारी में है। उसका भी इंतजार है। एक अन्य पदाधिकारी के मुताबिक जूम को लेकर पहले भी कोई आग्रह नहीं था। पर यह सुविधाजनक है, इसलिए इसका प्रचलन बढ़ा। अब अन्य विकल्पों पर भी जोर है। तब तक के लिए स्वयंसेवकों को सावधानीपूर्वक इस एप के इस्तेमाल को कहा गया है। चीन में स्थित सर्वर वाले इस एप से डाटा हैक होने संबंधी शिकायतों के बाद केंद्र सरकार ने इसके प्रयोगकर्ताओं को एडवाइजरी जारी की है।

इस बीच, संघ के आनुषांगिक संगठन स्वदेशी जागरण मंच ने केंद्र सरकार से जूम के साथ चाइनीज एप हेलो और टिकटॉक के खिलाफ गृह व संचार मंत्रलय के अधीन आने वाले इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (सीइआरटी-इन) से इनकी व्यापक जांच की मांग की है। उसके मुताबिक इन एप पर देश की राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरे में डालने और सांप्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ने का आरोप है।

वहीं संघ ने भी अपनी तरफ से स्वदेशी वीडियों कांफ्रेंसिंग एप के निर्माण को लेकर काम शुरू कर दिया है। संघ से संबद्ध भारतीय शिक्षण मंडल के यूवा आयाम ने रिसर्च फॉर रेसर जिंस फाउंडेशन और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रोपड़ के साथ मिलकर गुरुवार को एक प्रतियोगिता की भी घोषणा की है। मंडल ने इसके लिए पांच लाख रुपये का इनाम भी रखा है। इसके लिए युवाओं और स्टार्ट-अप से 15 मई तक प्रस्ताव मांगा है।

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस