नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। सड़क दुर्घटनाएं रोकने के लिए दैनिक जागरण की ओर से चलाए जा रहे सड़क सुरक्षा महाअभियान का असर प्रशासन के फैसलों में दिखने लगा है। दिल्ली में हाई कोर्ट, तीस हजारी, आनंद विहार और मधुबन चौक पर जल्द चार नए फुट ओवरब्रिज बनने जा रहे हैं। इससे इन स्थानों से गुजरने वाले लाखों लोगों की सड़क पार करते वक्त जान जोखिम में नहीं पड़ेगी। साथ ही यहां लगने वाले लंबे जाम से वाहन चालकों को मुक्ति मिलेगी।

दिल्ली में पिछले वर्ष चार हजार से अधिक सड़क दुर्घटनाएं हुईं, जिनमें 1200 से अधिक लोगों की मौत हो गई। इनमें अधिकतर पैदल राहगीर और दो पहिया वाहन चालक थे। सड़कों को सुरक्षित बनाने के उद्देश्य से दैनिक जागरण ने सड़क सुरक्षा महा अभियान के तहत इस माह की शुरुआत में तकनीकी विशेषज्ञों की टीम के साथ सड़कों का सुरक्षा आडिट किया है। छह टीमों ने दिल्ली की 474 किलोमीटर सड़कों का हाल जाना है।

हाई कोर्ट के सामने बनेगा फुट ओवरब्रिज 

दिल्ली हाईकोर्ट के सामने वाला मार्ग व्यस्ततम मार्ग है। लोग सड़क पार करते हैं तो वाहनों के पहिए रुकते हैं तो कई बार जाम भी लग जाता है। इसको देखते हुए लोक निर्माण विभाग ने यहां फुट ओवरब्रिज बनाने का निर्णय लिया है। इससे लोग आराम से सड़क पार कर पाएंगे। वाहन चालकों को भी परेशानी नहीं होगी।

आनंद विहार फुट ओवरब्रिज

आनंद विहार बस अड्डे के सामने एक फुट ओवरब्रिज पहले से बना है। यह आनंद विहार बस अड्डे से उत्तर प्रदेश के बस अड्डे की ओर जाता है। दिन भर बहुत भीड़ रहती है। यहां लगा एस्कलेटर अक्सर खराब रहता है। विभाग ने इसे ठीक करा नियमित तौर पर चलाने के निर्देश दिए हैं। आनंद विहार बस अड्डे से कौशांबी की ओर आने जाने के लिए यह नया फुट ओवरब्रिज बनेगा। इससे लाभ यह होगा कि आनंद विहार के प्रवेश द्वार की ओर की तरफ वाले लोग सीधे कौशांबी में आया जाया करेंगे।

यह भी पढ़ें- Road Safety with Jagran: बच्चों ने जाना सड़क सुरक्षा के उपाय, कहा- जेब्रा क्रासिंग और सब-वे का करें इस्तेमाल

मधुबन चौक फुट ओवरब्रिज

मधुबन चौक पर लंबे समय से फुट ओवरब्रिज की जरूरत महसूस की जा रही थी। इसके न होने से लोगों को परेशानी हो रही थी। इस चौक के पास ही रोहिणी कोर्ट है, डीडीए का कार्यालय है और कुछ इंस्टीट्यूट हैं। दिन भर यहां पैदल चलने वालों की भीड़ रहती है। इसके अलावा तीस हजारी फुट ओवर ब्रिज पर भी भारी भीड़ होती है। यहां कोर्ट होने के कारण दिन भर बड़ी संख्या में लोग सड़क पार करते हैं। वाहनों की तेज आवाजाही से कई बार सड़क दुर्घटनाएं भी होती हैं। इसके बन जाने से लोगों को काफी सहूलियत मिलेगी।

यह भी पढ़ें- दैनिक जागरण के अभियान को एडीजी लाठकर ने सराहा, कहा- दुर्घटना के कारणों की समीक्षा के बाद हल ढूंढेगी पुलिस

Edited By: Abhi Malviya

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट