नई दिल्ली [वीके शुक्ला]। जुलाई और अगस्त के बाद सितंबर में दिल्ली में वाहनों का पंजीकरण कम रहा है। अगस्त की तुलना में सितंबर में 11 हजार घटकर 31 हजार वाहन रह गए। इस पर दिल्ली परिवहन विभाग ने कहा है कि अक्टूबर में वाहनों का पंजीकरण बढ़ने की उम्मीद है। नवरात्र शुरू होते ही वाहनों का पंजीकरण बढ़ जाएगा। आंकड़ों पर नजर डालें तो गत जुलाई में 43396 और अगस्त में 42280 वाहन पंजीकृत हुए थे। मगर सितंबर में कुल 31200 वाहन पंजीकृत हुए हैें, अगस्त के आंकड़े से भी इसकी तुलना करें तो यह संख्या 11080 कम है। इसमें खासकर कार और दो पहिया वाहनों के पंजीकरण में कमी आई है।

बता दें कि अगस्त में जहां 12901 कारें पंजीकृत हुई थीं, वहीं सितंबर में 8922 कारें ही पंजीकृत हो सकी हैं। इसी तरह अगस्त में 25703 दो पहिया पंजीकृत हुए थे, वहीं सितंबर में 17142 दो पहिया पंजीकृत हुए। तुलना करें तो सितंबर में अगस्त की अपेक्षा करीब तीन हजार कारें कम पंजीकृत हुईं वहीं दो पहिया आठ हजार कम पंजीकृत हुए।

वहीं सितंबर में फिर से इलेक्ट्रिक वाहनों को सीएनजी वाहनों से पछ़ाड़ दिया है। इस माह इलेक्ट्रिक से सीएनजी वाहन अधिक पंजीकृत हुए हैं। मगर महत्वपूर्ण तथ्य यह भी है कि जुलाई, अगस्त से सितंबर में इलेक्ट्रिक वाहनों का पंजीकरण बढ़ा है। पिछले तीन माह से इलेक्ट्रिक वाहनों का आंकड़ा बढ़ रहा है। वैसे बाजार के जानकारों की मानें तो आने वाले महीनों में वाहन खरीदारी में तेजी आएगी, क्योंकि कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में कमी आने के बाद तेजी से स्थितियां सामान्य होने की ओर बढ़ रही हैं।

सितंबर 2021 में पंजीकृत वाहन

  • नई रिक्शा सामान 331
  • ई रिक्शा सवारी 1345
  • गुड्स कैरियर 1419
  • मोबाइल क्लीनिक 1
  • तिपहिया सामान 352
  • तिपहिया सवारी 536
  • मोटर कैब 144
  • बस 3
  • एंबुलेंस 2कैश वैन 40
  • मोपेड 107
  • दो पहिया साइड कार 4
  • दो पहिया 17132
  • मोटर कार 8922
  • कुल 31200

Edited By: Jp Yadav