नई दिल्ली, जेएनएन। 26 जनवरी को दिल्ली के लाल किला पर हुई व्यापक हिंसा मामले में आरोपित पंजाबी एक्टर दीप सिद्धू को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। सात दिन की पुलिस रिमांड खत्म होने के बाद तिहाड़ जेल परिसर स्थित अदालत में मेट्रो पोलिटन मजिस्ट्रेट समरजीत कौर के सामने सिद्धू को पेश किया गया था।

न्यायिक हिरासत में भेजने के आदेश के बाद सिद्धू के वकील ने जेल में उसकी सुरक्षा व अलग सेल में रखने के लिए याचिका लगाई। इसपर अदालत ने कहा कि इसकी सुनवाई तीस हजारी कोर्ट में होगी। 26 जनवरी की घटना के बाद से सिद्धू पुलिस को चकमा दे रहा था। उसने एक वीडियो जारी कर दावा किया था कि अगर उसने मुंह खोला तो कई चेहरे बेनकाब हो जाएंगे। इसके बाद दीप सिद्धू की तस्वीरें पुलिस ने सार्वजनिक की थीं और उस पर एक लाख रुपये का इनाम रखा था। अंत में दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल ने आठ फरवरी को चंडीगढ़ के पास जीरकपुर से सिद्धू को गिरफ्तार किया गया था। 

वहीं, पुलिस दोनों को लेकर उस मार्ग पर भी गई थी। जिससे वे लाल किला पहुंचे थे। इस दौरान पुलिस ने उनसे अन्य जानकारी भी हासिल की। उधर पुलिस पूछताछ में दीप सिद्धू ने बताया कि लाल किले के बाद इंडिया गेट भी जाना चाहता था। लेकिन, हंगामा बढ़ जाने के कारण वह वहां नहीं गया था। उधर इकबाल सिंह ने उपद्रवियों को लालकिला में जाने के लिए कैसे उकसा रहा था इसकी जानकारी पुलिस को दी।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक पूछताछ में दीप सिद्धू ने बताया था कि लॉकडाउन के कारण उसे काम नहीं मिल रहा था। लिहाजा खाली होने के कारण कृषि कानून के विरोध में आंदोलन से प्रेरित होकर वह दिल्ली आ गया था। जब वह आंदोलनकारियों के बीच जाता था तो सेलिब्रिटी होने के कारण युवा उसकी बातों को ध्यान से सुनते थे और विरोध स्थल पर लोगों की भारी भीड़ जुटती थी। लोकप्रियता मिलने के कारण वह धरने में रुका रहा। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप