धनंजय मिश्रा, नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने एक अंतरराष्ट्रीय ड्रग तस्कर गिरोह का राजफाश किया है। पुलिस ने बेमिना श्रीनगर के गोसिया कालोनी निवासी अल्ताफ उर्फ मेराजुद्दीन दर्जी (45), श्रीनगर के रायनावाड़ी इलाके के निवासी आबिद हुसैन (40), अफगानिस्तान के काबूल निवासी, हश्मत मोहम्मदी (31), तिफाल नौखेज उर्फ टिफली (41) और पुरानी दिल्ली के बल्लीमारान निवासी अब्दुल्लाह नजीबुल्लाह उर्फ नबी (40) को गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से 54.2 किलो हेरोइन बरामद की गई है अफगानिस्ता के रहने वाले दोनों आरापित जाकिर नगर इलाके में रहते थे। आरोपितों से पूछताछ में पता चला है कि अफगानिस्तान में बैठे कासिम और हाजी हेरोइन बनाने का कच्चा माल भारत भेजते थे। उस कच्चे माल को पंजाब और दिल्ली में केमिकल की मदद से हेरोइन बनाया जाता था। पुलिस ने आरोपिताें की निशानदेही पर बटला हाउस इलाके में कच्चे माल से हेरोइन बनाने की चल रही फैक्ट्री का भी भंडाफोड़ किया है।

स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुमार कुश्वाह ने बताया कि दो मई को एक सूचना पर अल्ताफ को अशोका रोड से उस समय गिरफ्तार किया गया था जब वह किसी को ड्रग की खेप देने के लिए आया था। अल्ताफ जाकिर नगर इलाके में रहता है। यह मूलरूप से श्रीनगर का रहने वाला है। इसके कब्जे से साढ़े तीन किलो हेरोइन बरामद की गई। अल्ताफ की निशानदेही पर इसके सहयोगी आबिद हुसैन को विनोबा पुरी इलाके के एक घर से पकड़ा गया। इसके पास से 12 किलो हेरोइन बरामद की गई। आबिद भी श्रीनगर का रहने वाला है।

पूछताछ के दौरान आरोपित ने बताया कि हेरोइन बनाने के लिए कच्चा माल अफगानिस्तान से हाजी और कासिम नामक शख्स भेजता है। इसके बाद अमृतसर का लक्खा हेरोइन तैयार करने वाले केमिकल भेजता है, इनकी मदद से हेरोइन तैयार की जाती है। जांच के दौरान जाकिर नगर में रह रहे अफगानी नागरिक हशमत मोहम्मदी का नाम सामने आया। पुलिस ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया। उसकी स्कूटी से पांच किलो हेरोइन बरामद हुई। पूछताछ में हशमत ने बताया कि कच्चे माल को बटला हाउस इलाके में संचलित एक फैक्ट्री में बनाया जाता है। पुलिस टीम ने बटला हाउस में छापेमारी कर वहां से 29.5 किलो हेरोइन बरामद की। जांच में पता चला कि पहले से ही जेल में बंद तिफाल नौखेज उर्फ टिफली की यह फैक्ट्री है। पुलिस ने आरोपित को जेल से ही गिरफ्तार किया। इससे पूछताछ के बाद पुलिस ने वजीराबाद इलाके से अब्दुल्लाह नजीबुल्लाह को 3.2 किलो हेरोइन के साथ गिरफ्तार किया। फिलहाल पुलस आरोपितों से यह पता लगा रही है कि यह कारोबार कब से चल रहा था। इसके अलावा यह भी पता लगाया जा रहा है कि आरोपित किन लोगों को हेरोइन की खेप पहुंचाते थे।