नई दिल्ली [संजीव गुप्ता]। मंगलवार से दिल्ली में एक बार फिर बारिश का दौर शुरू होने जा रहा है। यह दौर सप्ताह भर तक चलेगा। पहले दो दिन मंगलवार और बुधवार को हल्की जबकि इसके बाद अगले पांच छह दिन तेज बारिश होने की संभावना है। लगातार बारिश से उमस भरी गर्मी कम होगी और तापमान में भी गिरावट आने के आसार हैं। बारिश भरा यह सप्ताह दिल्ली में मानसून की बारिश का एक दशक पुराना रिकार्ड भी तोड़ सकता है।

भारतीय मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि मंगलवार को बादल छाए रहेंगे। हल्की बारिश होने की संभावना है। अधिकतम एवं न्यूनतम तापमान क्रमश: 34 और 28 डिग्री सेल्सियस रह सकता है। वैसे मौसम विभाग ने 12 सितंबर तक के लिए के ग्रीन और यलो अलर्ट जारी कर रखा है।

वहीं स्काईमेट वेदर के उपाध्यक्ष महेश पलावत ने बताया कि मध्य प्रदेश के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है। इससे पूर्वी हवाओं को बल मिलेगा और बारिश के लिए अनुकूल परिस्थितियां बनेंगी। उन्होंने कहा कि मंगलवार से पहले दो दिन बारिश थोड़ा हल्की रह सकती है जबकि बृहस्पतिवार से 13-14 सितंबर तक अच्छी बारिश होने के आसार बन रहे हैं।

इस बीच सोमवार को भी राजधानी में मिलाजुला मौसम रहा। कई बार बादल छाए और कहीं कहीं बरसे भी। अधिकतम तापमान सामान्य से दो डिग्री अधिक 36.2 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री अधिक 27.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हवा में नमी का स्तर 57 से 92 फीसद रहा। जहां तक बारिश का सवाल है तो सुबह साढ़े आठ से शाम साढ़े पांच बजे तक सफदरजंग पर 6.2 मिमी, पीतमपुरा में 1.0 मिमी और पूसा में 0.5 मिमी बारिश रिकार्ड की गई।

यह भी पढ़ेंः मनीष सिसोदिया ने इशारो-इशारों में कसा भाजपा पर तंज, 'हम नाम बदलने में नहीं, तस्वीर बदलने में करते हैं विश्वास'

यहां यह भी उल्लेखनीय है कि इस बार दिल्ली में मानसून की बारिश एक दशक का रिकार्ड तोड़ने की ओर बढ़ रही है। एक जून से 30 सितंबर तक सामान्य बारिश का आंकड़ा है 649 मिमी। 2010 में यह आंकड़ा 1,031.5 मिमी तक चला गया था, जबकि इस साल रविवार तक 988.4 मिमी बारिश हो चुकी है। इसलिए इसमें कोई संदेह नहीं कि सितंबर में हो रही यह बारिश दिल्ली में मानसून की बारिश का नया रिकार्ड बनाने की ओर अग्रसर है।

यह भी पढ़ेंः टोक्यो पैरालिंपिक में इतिहास रचने वाले देश के होनहार IAS अधिकारी सुहास ने बताया अपनी कामयाबी का राज

 

DDA Flat News 2021: सामने आ गई असली वजह, आखिर लोग क्यों सरेंडर कर रहे हैं डीडीए के फ्लैट

 Delhi Metro News: पढ़िये- एक साल बाद भी तकरीबन 3000 करोड़ के घाटे से क्यों नहीं उबर पा रही मेट्रो

Edited By: Jp Yadav