नई दिल्ली [संतोष कुमार सिंह]। परंपरागत आइसीएफ कोच वाली ट्रेनों में भी आधुनिक पेंट्री कार की सुविधा होगी। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर आधुनिक पेंट्री कार का निरीक्षण किया है। लखनऊ के आलमबाग रेलवे कारखाने में एक एलपीजी गैस आधारित पेंट्री कार को लौ रहित इलेक्ट्रिक उपकरणों से सुसज्जित किया गया है। यह सुरक्षित और पर्यावरण अनुकूल हैं। इसमें एलपीजी गैस का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा। इस नए पेंट्री कार में एलएचबी कोच वाले पेंट्री के मानकों के अनुरूप इंडक्‍शन उपकरण, धुआं एवं अग्निरोधन प्रणाली लगाई गई है। बिजली से होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने के लिए सभी उपकरणों को अनुसंधान अभिकल्प एवं मानक संगठन (आरडीएसओ) के मानकों के अनुरूप रखा गया है। कोच के अंदर एलईडी लाइटें लगाई गई हैं।

ट्रेनों में आग लगने की घटना होगी कम

मंत्री ने उत्तर रेलवे के इस पहल की सराहना की। उन्होंने इस तरह के और पेंट्री कार तैयार करने और इसे ट्रेनों में लगाने की सलाह दी। इससे ट्रेनों में आग से होने वाली दुर्घटनाओं में भी कमी आएगी। अधिकारियों ने बताया कि उत्तर रेलवे परंपरागत कोच के बनावट में सुधार कर उसे आरामदायक और ज्यादा सुरक्षित बनाने के लिए लगातार काम कर रहा है।

ये लोग भी रहे मौजूद

मंत्री के साथ रेलवे बोर्ड के सदस्‍य (कर्षण एवं चल स्‍टाक) राहुल जैन, उत्‍तर रेलवे के महाप्रबंधक आशुतोष गंगल, प्रमुख मुख्‍य यांत्रिक इंजीनियर डीसी शर्मा। दिल्‍ली के मंडल रेल प्रबंधक डिंपी गर्ग सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

केंद्रीय अस्पताल का दौरा किया

देश में एक सौ करोड़ टीकाकरण होने पर रेल मंत्री उत्तर रेलवे के केंद्रीय अस्पताल पहुंचकर डाक्टरों व स्वास्थ्य कर्मियों के काम की सराहना की। प्रबंधक निदेशक डा. अमिता जैन व अस्‍पताल के अन्‍य डाक्‍टरों ने उनका स्‍वागत किया। उन्होंने बताया कि रेलवे के चि‍कित्‍सा केंद्रों पर रेल कर्मचारियों व उनके आश्रितों के साथ ही अन्‍य लोगों को नियमित रूप से टीके लगाए जा रहे हैं।

Edited By: Prateek Kumar