नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में स्थित गुरुद्वारा श्री पंजा साहिब में जूते पहनकर फिल्म की शूटिंग करने की घटना का दिल्ली के सिख नेताओं ने विरोध किया है। उन्होंने पाकिस्तान सरकार से गुरुद्वारा साहिब की बेदअदबी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने और वहां रहने वाले अल्पसंख्यकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की है।

बिना अनुमति गुरुद्वारा में जाकर की शूटिंग

भाजपा नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि 29 सितंबर को एक फिल्म से जुड़े कलाकार और अन्य लोग बिना किसी अनुमति के गुरुद्वारा पंजा साहिब में जाकर शूटिंग करने लगे। वहां मौजूद सेवादारों ने जब उन्हें रोकने की कोशिश की तो उनके साथ दुर्व्यवहार किया गया। एक सेवादार ने गुरुद्वारा साहिब की बेअदबी करने वालों का वीडियो बनाने वाला सिख उस घटना के बाद से लापता है।

आवाज उठाने वालों को धमकाया जा रहा

वहां के एक सिख ने उनके साथ वीडियो साझा कर बताया है कि इस घटना के बारे में बोलने वालों को धमकाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में सिखों को प्रताड़ित करने और गुरुद्वारा साहिब की बेअदबी की घटनाएं लगातार हो रही है।

पाकिस्तान सरकार पर लगा अनदेखी का आरोप

पाकिस्तान सरकार इसकी अनदेखी कर रही है। उन्होंने कहा कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के लिए भारत सरकार को इस मामले को पाकिस्तान सरकार के सामने उठाना चाहिए । 

गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने घटना को बताया दुर्भाग्यपूर्ण

दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष हरमीत सिंह कालका ने कहा कि गुरुद्वारा पंजा साहिब में बेअदबी की घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। इस घटना से सिखों में रोष है। पाकिस्तान सरकार को गंभीरता से इसे लेना चाहिए। वहां सिख लड़कियों को अगवा कर जबरन कर मुस्लिमों से निकाह करने की कई घटनाएं सामने आ चुकी है। अंतरराष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग के सामने यह मामला उठाया जाएगा।

दिल्ली- एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

Edited By: Prateek Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट