नई दिल्ली (जेएनएन)। केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) के अतिरिक्त निदेशक राकेश अस्थाना को जांच एजेंसी के विशेष निदेशक बनाए जाने के प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई हैं। वहीं, नियुक्ति को लेकर आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता और देश के जाने माने वकील प्रशांत भूषण ने हमला बोला है।

उन्होंने राकेश अस्थाना की नियुक्ति पर सवाल उठाते हुए कहा कि सीबीआइ के अतिरिक्त निदेशक राकेश अस्थाना का नाम स्टर्लिंग बायोटेक की डायरी में है। इस पर सीबीआई ने खुद एफआईआर दर्ज की है। इसके बावजूद सरकार ने सीबीआइ का अतिरिक्त निदेशक बनाकर उन्हें इनाम दे डाला। 

प्रशांत भूषण ने कहा कि यह दर्शाता है कि केंद्र में सत्तासीन भारतीय जनता पार्टी सरकार सीबीआइ की स्वायत्तता को नष्ट कर रही है। 

स्वराज इंडिया के नेता कहा कि जहां तक मेरा विचार है यह पूरी तरह गैरकानूनी है और इसे निर्णय को चुनौती दी जाएगी। 

बता दें कि प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने सीबीआइ, आईबी, बीएसएफ और एनआईसीएफएस में आठ अधिकारियों की नियुक्ति के प्रस्ताव को मंजूरी दी है, इनमें राकेश अस्थाना का भी नाम है। 

यह भी पढ़ेंः योगी आदित्यनाथ के विधायक पर पीएम मोदी के मंत्री ने लगाए बेहद गंभीर आरोप

सीबीआइ में अतिरिक्त निदेशक के पद पर आसीन राकेश अस्थाना को इसी एजेंसी का विशेष निदेशक नियुक्त किया गया है। सीआरपीएफ में अतिरिक्त महानिदेश के पद पर तैनात आईपीएस अधिकारी सुदीप लखटकिया को सीआरपीएफ में विशेष महानिदेशक नियुक्त किया गया है।

इस कड़ी में आइपीएस अधिकारी गुरबचन सिंह आईबी में विशेष निदेशक नियुक्त किए गए हैं।  गुरबचन  फिलहाल खुफिया ब्यूरो में ही अतिरिक्त निदेशक के पद पर कार्यरत हैं।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस