नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। Delhi Air Pollution: आंशिक राहत के बाद दिल्ली-एनसीआर की हवा फिर से दमघोंटू हो गई है। मंगलवार को धूल, धुएं और कोहरे के कहर ने दिल्ली-एनसीआर के करोड़ों लोगों की मुश्किल बढ़ा दी है। वायु गुणवत्ता सूचकांक (Air Quality Index) के मुताबिक, मंगलवार सुबह दिल्ली के लोधी रोड इलाके में पीएम 2.5 का स्तर 456 तो पीएम 10 का स्तर 285 रहा, जो स्वास्थ्य के लिहाज से बेहद हानिकारक है।

एनसीआर में AQI

गाजियाबाद : 455 (वसुंधरा)

दिल्ली : 382 (जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम/लोधी रोड)

दिल्ली : 441 (आनंद विहार)

दिल्ली : 440 (रोहिणी)

गाजियाबाद : 441 (इंदिरापुरम)

दिल्ली-एनसीआर की हवा फिर हुई दमघोंटू

इससे पहले रविवार की तुलना में सोमवार को दिल्ली के एयर इंडेक्स में 39 अंकों की वृद्धि दर्ज की गई। रविवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स 321 था, जबकि सोमवार को इसमें तेजी से बढ़ोतरी हुई और यह 360 पहुंच गया। शाम चार बजे हवा में प्रदूषक कण पीएम 10 की मात्रा 353 और पीएम 2.5 कणों की मात्रा 225 माइक्रोग्राम प्रतिघन मीटर दर्ज की गई। हवा में पीएम 10 कणों की मात्रा 100 और पीएम 2.5 कणों की मात्रा 60 होने पर ही उसे स्वास्थ्य के लिए सबसे कम घातक माना जाता है। अगले दो दिनों के दौरान हवा के और प्रदूषित होने और इसके गंभीर श्रेणी में पहुंचने की आशंका जताई जा रही है।

स्मॉग करेगा परेशान

दिल्ली में सोमवार की सुबह कोहरा छाया रहा। सूरज निकलने के बाद कोहरे ने स्मॉग का रूप ले लिया। दोपहर के समय स्मॉग कुछ कम जरूर हुआ, लेकिन लोगों का दम घुटता रहा। सुबह करीब सात बजे एयर (एक्यूआइ) 324 था, जो शाम 4 बजे तक 360 हो गया। दिल्ली हवा में पंजाब और हरियाणा में जलाई जा रही पराली का धुआं लगातार बढ़ रहा है। शनिवार को दिल्ली की हवा में पराली से होने वाले प्रदूषण की मात्रा सिर्फ आठ फीसद थी, लेकिन रविवार को यह 12 फीसद हो गया। सोमवार को दिल्ली के प्रदूषण में पराली के धुएं की हिस्सेदारी 18 फीसद होने का अनुमान है। मंगलवार को यह बढ़कर 25 फीसद तक पहुंच सकती है।

जम्मू-कश्मीर में सक्रिय साइक्लोनिक सर्कुलेशन भी प्रदूषण की एक वजह

सफर के मुताबिक हरियाणा और पंजाब में 10 नवंबर को 1846 जगहों पर पराली जलाई गई। इसके अलावा जमीनी सतह पर हवाओं की गति कम हो गई है। इसके चलते अगले दो दिनों के बीच दिल्ली का एयर इंडेक्स 400 के पार पहुंच सकता है। प्रदूषण बढ़ने की एक दूसरी वजह जम्मू-कश्मीर में सक्रिय हुआ साइक्लोनिक सर्कुलेशन भी है।

ठंड बढ़ेगी पर नहीं होगी बारिश

सफर के अनुसार इसके प्रभाव से राजधानी दिल्ली में बारिश तो नहीं होगी, लेकिन बादल छाए रहेंगे और ठंड भी बढ़ेगी। अगले दो दिनों में तापमान में गिरावट आ सकती है। इसी वजह से प्रदूषक तत्वों को हवा में जमने की जगह मिल रही है। मंगलवार को प्रदूषण गंभीर स्तर पर जा सकता है। बुधवार को भी हालात वैसे ही बने रहेंगे। बृहस्पतिवार से मामूली सुधार की उम्मीद है।

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस