नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दिल्ली-एनसीआर समेत देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में तो कमी आई है,लेकिन लापरवाही में लगाातर इजाफा जारी है। आलम यह है कि लोग न तो शारीरिक दूरी के नियम का पालन कर रहे हैं और न ही मास्क लगाने पर ध्यान दे रहे हैं। यही वजह है कि दिल्ली के दर्जनभर से अधिक बाजारों को बंद करने के कार्रवाई दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से अब तक की जा चुकी है।

वहीं, ताजा जानकारी के मुताबिक, कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के नियमों का पालन न करने वालों के खिलाफ दिल्ली भर में चलाए गए अभियान के तहत चालान काटकर जुलाई में 36 करोड़ का जुर्माना लगाया गया है। यह राशि मई और जून से अधिक है। जिनके चालान काटे गए उनमें मास्क न लगाने वालों की संख्या सबसे ज्यादा है। जुलाई में दो लाख 11 हजार 267 चालान काटे गए। 6424 एफआइआर दर्ज की गई हैं।

इससे भी पहले जून महीने में एक लाख 58 हजार 341 चालान काटे गए थे और 4148 एफआइआर दर्ज की गई थीं। इससे पहले अप्रैल में 85 हजार 175 चालान काटे गए तथा 1803 एफआइआर दर्ज की गई थीं। वहीं इस माह चार अगस्त तक 25,102 चालान काटे गए हैं। 735 एफआइआर दर्ज की गई हैं। चार करोड़ रुपये 57 हजार पांच हजार तीन सौ रुपये का जुर्माना लगाया गया है। चालान काटने के लिए दिल्ली भर में 156 टीमें लगाई गई हैं। इस कार्य में 129 वाहन उपयोग किए जा रहे हैं। बाजार, बस अड्डों और रेलवे स्टेशनों पर चालान काटे जा रहे हैं।

दिल्ली मेट्रो में 200 रुपये तक चालान

दिल्ली मेट्रो रेल निगम ट्रेनों में सफर के दौरान और मेट्रो स्टेशनों पर मास्क नहीं लगाने और शारीरिक दूरी के नियम नहीं मानने पर 200 रुपये का चालान किया जा रहा है। इस साल अब तक 30,000 से अधिक लोगों को चालान दिल्ली मेट्रो रेल निगम कर चुका है। 

Edited By: Jp Yadav