नई दिल्ली [वीके सिंह]। पुलवामा हमले का ग्रहण लाहौर बस सेवा पर भी लग गया है। शनिवार को पाकिस्तान से बस में सिर्फ एक पुरुष यात्री भारत आया। पुलवामा में हुए आत्मघाती हमले के बाद दोनों देशों में तनाव बढ़ा है। इसकी वजह से 14 फरवरी के बाद भारत-पाकिस्तान के बीच चल रही सदाए-सरहद बस सेवा में यात्रियों की संख्या तेजी से कम हुई है। यही स्थिति पाकिस्तान जाने वाले यात्रियों की भी है। सूत्रों के मुताबिक सोमवार को पाकिस्तान जाने वाले यात्रियों की संख्या बेहद कम रहने का अनुमान है। डीटीसी ने इस बारे में कोई भी जानकारी देने से इन्कार कर दिया। हालांकि, दावा किया कि एक भी यात्री की बुकिंग होने पर बस को दोगुनी सुरक्षा के बीच पाकिस्तान भेजा जाएगा।

दिल्ली-लाहौर बस सेवा के तहत 80 सीट वाली बस चलाई जा रही है। इसमें सामान्य दिनों में 25 से लेकर 30 यात्री सफर करते हैं। कई बार सीटें फुल भी हो जाती हैं, एक बार तो बस में अतिरिक्त सीट रखकर एक यात्री को ले जाया गया था। क्योंकि एक मरीज को इलाज के बाद पाकिस्तान ले जाना था। अब तक सुरक्षा की दृष्टि से इस बस के आगे और पीछे पुलिस की एक-एक जिप्सी चलती थी। लेकिन, अब सुरक्षा दो गुना बढ़ा दी गई है। 12 घंटे के सफर में बस हरियाणा के पिपली, पंजाब के सर्रंहद व करतारपुर में नाश्ता व भोजन के लिए रुकती है।

बता दें कि सदा ए सरहद के नाम से भारत लाहौर बस सेवा का शुभारंभ 19 फरवरी 1999 को तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने संयुक्त रूप से बाघा बॉर्डर पर किया था। इस सेवा को शुरू करने का मकसद भारत-पाकिस्तान के बीच संबंधों को बेहतर किया जाना था। 2001 में यह सेवा उस समय रोक दी गई थी, जब 13 दिसंबर 2001 को संसद पर आतंकी हमला हुआ था।

इसके बाद 2003 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने ही फिर से इस सेवा को शुरू कर दिया था। इस सेवा के तहत अंबेडकर बस टर्मिनल से डीटीसी की बस सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को लाहौर जाती है। जबकि, पाकिस्तान पर्यटन विकास निगम की (पीटीडीसी) की बस प्रत्येक मंगलवार, बृहस्पतिवार व शनिवार को दिल्ली आती है। यह रूट 530 किलोमीटर का है और एक यात्री का किराया 24 सौ रुपये है।

बस सेवा तुरंत बंद हो

जयभगवान गोयल यूनाइटेड हिन्दू फ्रंट के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जयभगवान गोयल ने मांग की है कि दिल्ली-लाहौर बस सेवा तुरंत बंद होनी चाहिए। दुश्मनों के साथ संबंध क्यों? सरकार को पाकिस्तान के साथ सभी रिश्ते तोड़ लेने चाहिए। यह बस सेवा जब शुरू हुई थी उस समय भी गोयल ने विरोध किया था। इसकी वजह से उन पर केस भी दर्ज किया गया था।

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप