नई दिल्ली, जेएनएन। दिल्ली के करोलबाग स्थित होटल अर्पित पैलेस में मंगलवार तड़के भीषण आग गई। आग की चपेट में आने से एक बच्चे व महिला सहित 17 लोगों की मौत हो गई। इस भीषण आग में तीन लोग गंभीर रूप से झुलसे हैं, जिनका दिल्ली के अस्पताल में इलाज चल रहा है। हादसे के समय होटल में 100 से अधिक सैलानी और तकरीबन 25 के करीब स्टाफ था। सूचना पर पहुंचे फायर कर्मियों ने आग बुझाने के साथ करीब 35 लोगों को बाहर निकाला। दिल्‍ली पुलिस ने अर्पित पैलेस होटल में लगी आग मामले में आईपीसी की धारा 304 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने कहा की इस मामले में जो भी दोषी होंगे उन्‍हें सजा मिलेगी।

घटनास्थल पर दिल्ली के सीएम केजरीवाल भी पहुंचे और उन्होंने हादसे पर दुख जताते हुए परिजनों को 5-5 लाख रुपये मुआवजे का एलान किया है। वहीं, कुछ देर बाद दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल भी पहुंचे और हालात का जायजा लिया। वहीं, दोपहर में फिर से होटल की छत पर धुआं उठने से हड़कंप मच गया। 


जानकारी के मुताबिक, करोलबाग के होटल अर्पित पैलेस में आग सुबह करीब साढ़े चार बजे लगी। गहरी नींद में सोए लोग इससे पहले कुछ समझ पाते, आग फैलती चली गई। इसके बाद लोगों में दहशत फैल गई। चीफ फायर ऑफिसर के मुताबिक, 2 लोग बिल्डिंग से कूद पड़े। अग्निशमन विभाग के डिप्टी चीफ सुनील चौधरी ने बताया कि होटल अर्पित पैलेस में आग की चपेट में आने से 17 लोगों की मौत हो गई, हालांकि आग बुझा दी गई है।

 

अग्निशमन विभाग के अनुसार करोल बाग स्थित होटल अर्पित पैलेस में तड़के आग लग गई। सूचना मिलते ही 26 दमकल वाहन मौके पर पहुंचे और बचाव एवं राहत कार्य शुरू किया गया,  लेकिन संकरी गलियां होने के चलते आग बुझाने में काफी दिक्कत पेश आई। एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें एक आदमी छत से कूद कर जान बचाने की कोशिश कर रहा है। बताया जा रहा है कि होटल में 40 कमरे हैं। जान गंवाने वालों में ज्यादाकर केरल के हैं। 

हादसे की जानकारी पर मंत्री सत्येंद्र जैन ने करोलबाग के सभी होटलों में फायर सेफ्टी को लेकर जांच के आदेश दिए हैं। मंत्री ने कहा कि भवन उप नियमों की जमकर अनदेखी की गई है। 4 की जगह बिना अनुमति 5 मंजिला इमारतें बन गई हैं।

उधर, दिल्ली होटल एसोसिशन के वाइस प्रेसिडेंट बालान मणि का कहना है कि अब तक 17 लोगों की मौत हुई है। होटल में सभी नियमों का पालन किया गया था। पूरी जांच पड़ताल के बाद ही लाइसेंस दिया गया था।

 

बचने के लिए चौथी मंंजिल से सड़क पर कूदे, दो की मौत
बताया जा रहा है कि होटल में भीषण आग लगते ही वहां अफरातफरी मच गई। इस दौरान आग का दायरा बढ़ता देखकर तीन लोगों ने जान बचाने के लिए होटल की चौथी मंजिल से छलांग लगा दी, इनमें दो की मौत हो गई तो वहीं तीसरा शख्स घायल हो गया है। आग में झुलसे लोगों को नजदीक के लेडी हार्डिंग और राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया जा रहा है।

  • हादसे में इनकम टैक्स (IT) कमिश्नर सुरेश कुमार की भी मौत हो गई। वह मूलरूप से पंचकूला के रहने वाले थ और दिल्ली में तैनाती थी। 
  • घायलों में एक विदेशी महिला भी शामिल है। वह म्यांमार की रहने वाली है। यह महिला आग से बचने के लए कूद गई थी। उसका राम मनोहर लोहिया अस्पताल में इलाज चल रहा है।
  • RML अस्पताल में कुल 13 लोगों को लाया गया था, सभी मृत आए थे। पांच की पहचान हुई है, इनमें दो लोग हिंदुस्तान पेट्रोलियम के सदस्य थे। 13 में से 8 लोगों की मौत दम घुटने से हुई है और बाकी की जलने से।
  • होटल से कूदने वाली एक टूरिस्ट महिला गाइड का नाम चंचल है, जिसका अस्पताल में इलाज चल रहा है।

 वहीं, हादसे पर पीएमओ ने ट्वीट कर दुख जताया है- 'करोल बाग के होटल में लगी आग से जान गंवानों वालों के लिए दुख है। जिन्होंने अपने परिजनों को हादसे में गंवाया उनके प्रति पूरी संवेदना है।' वहीं, दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष शीला दीक्षित ने मंगलवार के अपने सारे कार्यक्रम रद कर दिए हैं।

Posted By: JP Yadav