नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। भाजपा ने व्यापारियों के साथ विचार विर्मश के बाद पुरानी दिल्ली के पुनर्विकास की योजना तैयार करने की मांग की है। उसका कहना है कि दिल्ली के मास्टर प्लान 2041 में पुरानी दिल्ली के पुनर्विकास की बात कही गई है, लेकिन इसे स्पष्ट नहीं किया गया है। इस वजह से व्यापारपियों में असमंजस की स्थिति है। उन्हें भविष्य की चिंता है। इसे ध्यान में रखकर केंद्रीय शहरी विकास राज्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी को शहर के व्यापारिक संगठनों की बैठक बुलानी चाहिए।

प्रदेश भाजपा प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने इसे लेकर हरदीप सिंह पुरी को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक मास्टर प्लान में पुरानी दिल्ली के व्यपारिक स्वरूप को स्वीकार किया गया है। बावजूद इसके पुनर्विकास के नाम पर व्यापारियों को हमेशा डराया जाता है। शाहजहांबाद पुनर्विकास निगम पर पुरानी दिल्ली क्षेत्र के रखरखाव व विकास की जिम्मेदारी है, लेकिन जन सुविधाएं उपल्बध कराने, लटके हुए बिजली एवं फोन के तार को ठीक करने पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। पुरानी दिल्ली में कई तरह के थोक व्यापार हैं।

दिल्ली के विकास में इसका महत्पूर्ण योगदान है, लेकिन शहर नियोजक एवं अधिकारियों ने यहां के व्यपारियों की समस्याओं को समझने की कोशिश नहीं की है। उन्होंने पुरी से व्यापारिक संगठनों के साथ बैठक करके पुरानी दिल्ली के पुनर्विकास पर उनकी राय लेकर मास्टर प्लान में बदलाव करने की मांग की है। उन्होंने दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता व कंफेडरेशन आफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण खंडेलवाल से यह मामला सरकार के सामने उठाने की मांग की है।

Edited By: Mangal Yadav