नई दिल्ली, विनय तिवारी। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत केंद्र सरकार के तीनों कृषि कानूनों को खत्म कराए जाने के लिए हर तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। किसानों को एकत्रित कर महापंचायत कर रहे हैं, जगह-जगह सम्मेलन कर किसानों को तीनों कृषि कानूनों की खामियां गिना रहे हैं और केंद्र सरकार को आड़े हाथों ले रहे हैं। केंद्र सरकार उनकी आपत्तियों को सुनने के लिए कई दौर की मीटिंग कर चुकी है, किसानों के तमाम संगठनों के साथ कई दौर की बातचीत हो चुकी है मगर उनका रिजल्ट कुछ नहीं निकला है।

राकेश टिकैत इन कानूनों को खत्म किए जाने तक दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे धरना प्रदर्शन को खत्म करने के लिए किसी भी तरह से तैयार नहीं है। बीते 10 माह से ये धरना प्रदर्शन चल रहा है। करोड़ों रुपये का नुकसान हो चुका है। इन धरना स्थलों के आसपास के रहने वाले और गांवों के लोग प्रदर्शन करने वालों के साथ कई दौर की मीटिंग करके इसे खत्म करने को कह चुके हैं मगर कोई रिजल्ट नहीं निकला। किसान किसी भी कीमत पर यहां से हटने के लिए तैयार नहीं है।

खैर इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिकी राष्ट्रपति जे बाइडन से मिलने के लिए अमेरिका यात्रा पर गए हुए हैं। राकेश टिकैत ने अपने इंटरनेट मीडिया एकाउंट ट्विटर से अब अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन को ट्वीट करते हुए लिखा है कि हम भारतीय किसान पीएम मोदी सरकार द्वारा लाए गए 3 कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं। पिछले 11 महीनों में विरोध प्रदर्शन में 700 किसानों की मौत हो चुकी है। हमें बचाने के लिए इन काले कानूनों को निरस्त किया जाना चाहिए। कृपया पीएम मोदी से मिलते समय हमारी चिंता पर ध्यान दें। उनके इस ट्वीट को अब तक हजारों लोग रिट्वीट कर चुके हैं और उससे भी अधिक लोग लाइक कर चुके हैं।

ये भी पढ़ें- Delhi Traffic Police: हो जाएं सावधान, खराब तरीके से वाहन चलाने वाले 100 लोगों की लिस्ट की जा रही तैयार, कहीं आपका नाम भी न हो जाए दर्ज

ये भी पढ़ें- सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका की नकल करने पर हाई कोर्ट ने दी चेतावनी, जानिए दिल्ली पुलिस से कैसे जुड़ा है पूरा मामला?

ये भी पढ़ें- कवि कुमार विश्वास ने कुछ इस अंदाज में किया राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर को उनकी जयंती पर याद

Edited By: Vinay Kumar Tiwari