नई दिल्ली, प्रेट्र। तब्लीगी जमात के कथित रूप से संदिग्ध लेनदेन और विदेश से मिले चंदे की जानकारी सरकार से छिपाने के मामले को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआइ) ने दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। यह जानकारी शुक्रवार को एजेंसी के अधिकारी ने दी। हालांकि जांच किसके खिलाफ शुरू हुई है इस बाबत एजेंसी ने अभी किसी का नाम नहीं बताया। अधिकारी ने बताया कि जमात द्वारा अवैध और अनुचित तरीके से नकद लेनदेन करने की शिकायत पर यह जांच पंजीकृत की गई है।

इस संस्था के लोगों ने विदेश से मिले चंदे का कोई ब्योरा सरकार को उपलब्ध नहीं कराया जबकि विदेशी योगदान (विनयमन) अधिनियम के तहत ऐसा करना जरूरी है। उल्लेखनीय है कोरोना काल में दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में स्थित तब्लीगी जमात का मुख्यालय बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमित विदेशियों के जमावड़े के कारण चर्चा में आया था। इसे लेकर कई दिनों तक मीडिया में मामला उछलता रहा था।

अधिकारी ने बताया कि सीबीआइ द्वारा किसी मामले में जांच पंजीकृत कर प्रारंभिक जांच शुरू करने में यह देखा जाता है कि क्या मामले में एफआइआर दर्ज कर बड़े पैमाने पर जांच करने की आवश्यकता है कि नहीं। सीबीआइ ने दिल्ली पुलिस सहित कई सरकारी विभागों से जमात से संबंधित कागजात हासिल करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इसके लिए इन विभागों को पत्र लिखे जा रहे हैं।

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस