नई दिल्‍ली [गौतम कुमार मिश्रा]। Nirbhaya case: निर्भया के दोषियों के लिए जारी नए डेथ वारंट के बाद अब जेल प्रशासन फिर एक बार फांसी पर लटकाने से पहले की प्रक्रिया को पूरा करने में जुट गया है। जेल संख्या-तीन में बने फांसी घर के दरवाजे कई दिनों के बाद मंगलवार को खुले। जेल अधीक्षक ने जेल कर्मियों के साथ पूरे परिसर का जायजा लिया। बुधवार को यहां लोक निर्माण विभाग के कर्मचारी भी आएंगे और देखेंगे कि यदि कहीं कोई जरूरी कार्य है तो उसे तत्काल प्राथमिकता के आधार पर करा लिया जाए।

जेलकर्मी ले रहे फांसी घर का दरवाजा

एक तरफ जेलकर्मी तिहाड़ जेल संख्या-तीन स्थित फांसी घर का जायजा ले रहे थे तो दूसरी ओर यहां से कुछ ही दूरी पर जेल अधीक्षक कार्यालय में अधिकारी दोषियों के परिजनों को डेथ वारंट में तय तिथि की औपचारिक जानकारी देने की तैयारी में जुटे थे।

परिजनों को एक दो दिन में में दी जाएगी जानकारी 

जेल सूत्रों का कहना है कि दो दिनों के भीतर जेल प्रशासन की ओर से दोषियों के परिजनों को डेथ वारंट में तय फांसी की तिथि की जानकारी दे दी जाएगी। इसके बाद अंतिम मुलाकात को लेकर फैसला किया जाएगा। जब तक ऐसा नहीं होता है, तब तक सप्ताह में दो दिन दोषी अपने परिजनों से मुलाकात कर सकते हैं।

दो बार पहले भी जारी हो चुका है डेथ वारंट

बता दें कि इससे पहले भी निर्भया के दोषियों के लिए दो बार डेथ वारंट जारी हो चुका है। दोनों ही बार डेथ वारंट की अवधि के दौरान दोषियों से उनके परिजनों की मुलाकात सामान्य तौर पर होती रही। दोनों ही बार जेल

प्रशासन अंतिम मुलाकात को लेकर कोई स्पष्ट फैसला नहीं कर सका। लेकिन, इस बार पूरी संभावना है कि अंतिम मुलाकात को लेकर जेल प्रशासन शीघ्र ही फैसला लेकर दोषियों के परिजनों को इसकी जानकारी दे देगा ताकि वे तय तिथि को मुलाकात के लिए पहुंच जाएं।

ये भी पढ़ेंः  दिल्ली में हार के भंवर में डूबी कांग्रेस को हौसले का सहारा, गोहिल ने लिखा प्रत्याशियों को पत्र

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस