नई दिल्ली [रणविजय सिंह]। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) की सहयोग से एम्स ट्रॉमा सेंटर व आरएमएल अस्पताल में 2 ऑक्सीजन प्लांट लगाए गए। खास बात यह कि यह दोनों प्लांट कोयम्बटूर से विमान से मंगलवार को ही दिल्ली लाए गए। दिल्ली पहुंचने के तुरंत बाद एम्स व आरएमएल अस्पताल में स्थापित करने का काम तेजी से शुरू कर दिया गया। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है कि इन दोनों संयंत्रों का बुधवार को सुबह पाइप लाइन के कनेक्शन की जांच के लिए ड्राई रन शुरू हो जाएगा। इसके बाद शाम को इन संयंत्रों से कोरोना के मरीजों को आक्सीजन आपूर्ति शुरू कर दी जाएगी। ये दोनों प्लांट डीआरडीओ की तनकीकी सहयोगी कंपनी कोयम्बटूर स्थित मैसर्स ट्राइडेंट न्यूमेटिक्स प्राइवेट लिमिटेड में तैयार किए गए हैं। इससे एक हजार लीटर प्रति मिनट (एलपीएम) ऑक्सीजन तैयार हो सकेगा। इस प्लांट से पांच लीटर प्रति मिनट फ्लो दर से 190 मरीजों को ऑक्सीजन सपोर्ट दिया जा सकेगा। इस प्लांट से प्रतिदिन 195 ऑक्सीजन सिलेंडर भरे जा सकते हैं।

इसके अलावा इस सप्ताह सफदरजंग अस्पताल, लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज व एम्स के झज्जर परिसर स्थित राष्ट्रीय कैंसर संस्थान (एनसीआइ) में भी ऑक्सीजन प्लांट लगाए जाएंगे। इस तरह दिल्ली एनसीआर के पांच अस्पतालों में इस सप्ताह ऑक्सीजन प्लांट लग जाएंगे।

उल्लेखनीय है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने 23 अप्रैल को दिल्ली में मौजूद केंद्र के अस्पतालों में आक्सीजन की उपलब्धता की समीक्षा की थी। जिसके बाद पांच ऑक्सीजन प्लांट लगाने का फैसला किया गया था। पीएम केअर्स फंड से देश भर में तीन माह में 500 ऑक्सीजन प्लांट लगाए जाने हैं। जिसमें दिल्ली एनसीआर के अस्पतालों में लगाए जा रहे ये पांच ऑक्सीजन प्लांट भी शामिल हैं।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021