नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। नई दिल्ली नगरपालिका परिषद (एनडीएमसी) में गरीबों को निजी से लेकर सरकारी अस्पतालों में पांच लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज देने वाली प्रधानमंत्री जनआरोग्य योजना (पीएम), यानी आयुष्मान योजना आने वाले दिनों में लागू हो जाएगी। बुधवार को एनडीएमसी की काउंसिल की बैठक में इस प्रस्ताव को सैद्धांतिक मंजूरी दे दी गई है। इसके बाद अब इस प्रस्ताव की डिटेल रिपोर्ट तैयार की जाएगी जिसे काउंसिल की मंजूरी मिलते ही योजना लागू कर दी जाएगी।

इसका सर्वाधिक फायदा एनडीएमसी इलाके की 18 झुग्गी बस्तियों में रहने वालों को होगा। साथ ही सांसदों और केंद्रीय अधिकारियों और कर्मचारियों के यहां काम करने वाले घरेलू सहायक भी इसके दायरे में आ सकेंगे। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में बुधवार को हुई बैठक में एनडीएमसी की काउंसिल ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दी। एनडीएमसी के सदस्य कुलजीत चहल ने इस संबंध में एनडीएमसी चेयरमैन को पत्र लिखा था जिसके बाद काउंसिल में प्रस्ताव आया जिसे सैद्धांतिक मंजूरी दे दी गई।

बैठक के बाद संयुक्त प्रेसवार्ता में एनडीएमसी के उपाध्यक्ष सतीश उपाध्याय और कुलजीत चहल ने बैठक को ऐतिहासिक दिन बताते हुए कहा कि दिल्ली में अब तक यह योजना राज्य सरकार ने लागू नहीं की, लेकिन गरीबों को स्वास्थ्य बीमा का लाभ देने वाली योजनाओं की जरूरत है। इसलिए काउंसिल ने प्रस्ताव को सैद्धांतिक मंजूरी दी है। इससे योजना को लागू करने का रास्ता साफ हो चुका है।

Edited By: Pradeep Chauhan